Categories
News

खुशख’बरी: न’हीं रुके’गा बैं’ड बा’जा, सी’एम यो’गी ने दि’ए स’ख्त नि’र्देश, अ’ब स’ब लो’ग क’र सक’ते हैं पह’ले जै’सी….

हिंदी खबर

लख’नऊ: कोरो’ना संक्र’मण से ब’चाव के लि’ए शा’दी विवा’ह के लि’ए जा’री गाइड’लाइन में क’हीं ऐ’सा न’हीं है कि बैं’ड बा’जा का प्रयो’ग न’हीं कि’या जा स’कता है। उस’के बा’द भी पुलि’स के बढ़’ते उत्पीड़’न को लेक’र रा’ज्य सर’कार की तर’फ से क’हा ग’या है य’दि ऐ’से मांग’लिक का’र्यक्रमों में य’दि पु’लिस उत्पी’ड़न की शिका’यत मिल’ती है तो क’ठोर का’र्रवाई की जा’एगी।

शा’दी के लि’ए पुलि’स या प्रशा’सनिक अनु’मति की को’ई आवश्यक’ता न’हीं है

सी’एम ने इ’स स’म्बन्ध में सा’फ क’हा है कि शा’दी के लि’ए पु’लिस या प्रशास’निक अनु’मति की को’ई आ’वश्यकता न’हीं है। उन्हों’ने य’ह भी क’हा कि ऐ’से माम’लों में क’हीं से भी पुलि’स दुर्व्यव’हार की शिका’यत आ’ई तो अधि’कारियों की जवाब’देही त’य की जा’एगी।

य’ह भी क’हा ग’या है कि वि’वाह आ’दि स’मारोह के लि’ए केव’ल सू’चना दे’कर को’विड प्रोटो’काल औ’र गाइड’लाइन के स’भी नि’र्देशों का पा’लन कर’ते हु’ए क’र सक’ते है। वि’वाह समा’रोह में जो सीमि’त लो’गों केषा’मिल हो’ने की बा’त क’ही ग’यी है उ’स समा’रोह के लि’ए नि’र्धारित लो’गों की सं’ख्या में बैं’ड बा’जा या अ’न्य कर्म’चारी शामि’ल न’हीं

गाइ’डलाइन के ना’म प’र उत्पीड़’न ब’र्दाश्त न’हीं हो’गा

उन्हों’ने क’हा कि गाइ’डलाइन के ना’म प’र उत्पीड़’न ब’र्दाश्त न’हीं हो’गा। उन्हों’ने अधि’कारियों से क’हा कि व’ह लो’गों को जा’गरूक क’रें त’था गाइड’लाइन का पाल’न क’रने के लि’ए प्रोत्सा’हित क’रें। यो’गी ने क’हा कि बैं’ड ब’जाने, डी’जे बजा’ने से रोक’ने वा’ले अधि’कारियों व पुलिसक’र्मियों प’र क’ठोर कार्य’वाही हो’गी।

हा’ल ही में यू’पी सर’कार ने नि’र्देश जा’री कि’ए हैं कि बं’द क’मरे या हॉ’ल में अधि’कतम 100 लो’ग, ज’बकि खु’ले स्था’न प’र नि’र्धारित क्ष’मता से 40 फी’सद लो’ग शामि’ल हो स’केंगे। पि’छले दि’नों मु’ख्य सचि’व आ’रके ति’वारी ने आदे’श जा’री क’र दि’ए। अ’ब शादि’यों में बैं’ड, डी’जे प’र पू’री तर’ह से पा’बंदी ल’गा दी ग’ई है। इ’सके सा’थ ही बुजु’र्गों औ’र बी’मार लो’गों के शादि’यों में शा’मिल हो’ने प’र रो’क लगा’या ग’या है।