Categories
News

ब’ड़ी ख’बर: CM यो’गी ने लि’या ब’ड़ा फैस’ला, अ’योध्या एय’रपोर्ट का ना’म बदल’कर र’खा ये न”या ना’म, सुन’कर हो जा’एंगे…

हिंदी खबर

ल’खनऊ.  उ’त्तर प्र’देश मंत्रिमं’डल की बैठ’क में अ’योध्या ए’यरपोर्ट को ले’कर ए’क ब’ड़ा फै’सला लि’या ग’या है. यो’गी सर’कार ने अयो’ध्या एय’रपोर्ट (Ayodhya Airport) का ना’मकरण म’र्यादा पुरुषो’त्तम श्री’राम ह’वाई अ’ड्डा अ’योध्या कि’ए जा’ने के प्रस्ता’व प’र मु’हर ल’गा दी है. मंग’लवार को हु’ए मंत्रिप’रिषद की अह’म बै’ठक में अयो’ध्या स्थि’त एयर’पोर्ट का नाम’करण म’र्यादा पुरु’षोत्तम श्री’राम ह’वाई अ’ड्डा  अ’योध्या कि’ए जा’ने के प्रस्ता’व को स्वीकृ’ति मि’ली. इस’के सा’थ ही एयर’पोर्ट का ना’म बद’लने के सं’बंध में विधा’नसभा में पा’रित क’रने के लि’ए प्रस्ता’वित संक’ल्प के आ’लेख को भी अनुमो’दित क’र दि’या ग’या है. मंत्रिप’रिषद द्वा’रा अनुमो’दित इ’स संक’ल्प को रा’ज्य विधान’सभा से पारि’त करा’कर प्रस्ता’व  ना’गर वि’मानन मंत्रा’लय को भे’जा जा’एगा.

व’हीं दे’श के दू’सरे रा’ज्यों की तर’ह उ’त्तर प्रदे’श में भी ‘ल’व जि’हाद’ (Love Jihad) के खि’लाफ का’नून ला’ने प’र यो’गी सरका’र ने अं’तिम मु’हर ल’गा दी है. उ’त्तर प्रदे’श मंत्रिमं’डल ने वि’वाह के लि’ए अ’वैध धर्मांत’रण रो’धी का’नून के प्रस्ता’व को मंग’लवार को मंजू’री दे दी. रा’ज्य सर’कार के प्र’वक्ता सिद्धार्थ’नाथ सिं’ह ने बता’या कि मुख्य’मंत्री यो’गी आदि’त्यनाथ की अध्यक्ष’ता में हु’ई रा’ज्य मंत्रिमं’डल की बै’ठक में शा’दी के लि’ए धोखा’धड़ी क’र ध’र्मांतरण कि’ए जा’ने की घटना’ओं प’र रो’क ल’गाने सं’बंधी का’नून के प्रस्ता’व को मंजू’री दे दी है. कैबि’नेट में प्रस्ता’व पा’स हो’ने के बा’द 15- 50 ह’जार त’क का जु’र्माना का प्रव’धान है. व’हीं शा’दी के ना’म प’र ध’र्म प’रिवर्तन अ’वैध घो’षित क’र दि’या ग’या है. अ’गर को’ई भी ग्रु’प ध’र्म परिव’र्तन करा’ता है तो उ’से 3 से 10 सा’ल की स’जा हो’गी.



50 हजा’र रु’पये त’क का जुर्मा’ना
उ”धर, धर्म’गुरु ध’र्म परिव’र्तन क’र आ’ता है तो उ’से डी’एम से अनुम’ति ले’नी हो’गी. का’नून के त’हत जो ध’र्म परि’वर्तन करे”गा उ’से भी जिलाधि’कारी से अनु’मति ले’नी हो’गी. य’दि को’ई सामू’हिक रू’प से ध’र्म परि’वर्तन क’र आ’ता है तो उ’से 10 सा’ल की स’जा औ’र 50 ह’जार रुप’ये का जुर्मा’ना दे’ना हो’गा. य’दि ऐ’सा क’रने वा’ला को’ई सं’गठन है तो उस’की मान्य’ता र’द्द हो सक’ती है. उस’के खि’लाफ भा’रतीय दं’ड संहि’ता के त’हत का’र्रवाई हो सक’ती है. इस’से पह’ले मुख्य’मंत्री यो’गी आ’दित्यनाथ ने पि’छले दि’नों कथि’त ‘ल’व जि’हाद’ के खि’लाफ का’नून ब’नाने का ऐला’न कि’या था. दरअ’सल पह’ले स्टे’ट लॉ कमी’शन ने अ’पनी भा’री-भर’कम रि’पोर्ट मुख्यमं’त्री को सौं’पी थी, जिस’के बा’द यू’पी के गृ’ह वि’भाग ने बा’कायदा इस’की रूपरे’खा तै’यार क’र न्या’य ए’वं वि’धि वि’भाग से अनुम’ति ली.