Categories
News

मज’दूरों का ब’ड़ा तो’हफा: 2 ला’ख रुप’ए दे’गी सर’कार, सि’र्फ क’रना हो’गा ये का’म….

हिंदी खबर

नई दि’ल्ली: दि’ल्ली स’रकार की त’रफ से ए’क बा’र फि’र से बु’रे व’क्त में म’जदूरों की मद’द कर’ने के लि’ए ब’ड़ा ऐला’न कि’या ग’या है। दरअ’सल, रा’ज्य सर’कार ने ए’क बा’र फि’र से दो’हराया है कि स्की’म के त’हत मज’दूरों को दो हजा’र से ले’कर दो ला’ख रु’पये त’क की मद’द दी जाए’गी। स्की’म के तह’त रजि’स्टर्ड मज’दूरों को ब’च्चों की पढ़ा’ई औ’र उन’की शा’दी त’क के लि’ए सर’कार आ’र्थिक म’दद करे’गी। इ’सके ज’रिए सरका’र स’भी श्रेणि’यों के श्रमि’कों को स’भी योज’नाओं का ला’भ दे’ना चा’हती है।

स्की’म के त’हत इ’स व’र्ग के लो’ग भी हैं म’जदूर

दि’ल्ली के उप’मुख्यमंत्री मनी’ष सि’सोदिया (Manish Sisodia) ने क’हा कि इ’स स्की’म के तह’त केव’ल सि’र प’र ईं’ट ढो’ने वा’ला ही मज’दूर न’हीं हो’गा, ब’ल्कि बी’स ह’जार से अधि’क मज’दूर व’र्ग इ’समें शा’मिल हों’गे। उन्हों’ने क’हा कि का’नून के त’हत कं’स्ट्रक्शन ले’बर की परि’भाषा का’फी ब’ड़ी है। इ’सके त’हत कु’ली, ले’बर, बेल’दार, मि’स्त्री, राज’मिस्त्री, मसा’ला बना’ने वा’ले मज’दूर, चू’ना पो’ताई सफे’दी वा’ले, कं’क्रीट मि’क्सर, टा’इल्स ए’वं स्टो’न फी’टर, पें’टर, पीओ’पी मजू’दर भी आ’ते हैं।

सा’थ ही लो’हार, मा’ली, फिट’रमैन, नि’र्माण स्थ’ल प’र का’र्यरत चौकी’दार, बिज’ली मि’स्त्री, प्लं’बर, कार’पेंटर, लेब’र, पं’प आ’परेटर, बा’र बा’इंडर, क्रे’न आप’रेटर आ’दि को भी कं’स्ट्रक्शन ले’बर की श्रे’णी में र’खा ग’या है। इसलि’ए इ’स भ्र’म को ख’त्म कर’ना ज’रूरी है कि कं’स्ट्रक्शन ले’बर केव’ल व’ही न’हीं हैं जो सि’र प’र ईं’ट उठा’कर चल’ते हैं। सा’थ ही य’ह भी बता’या ग’या कि अ’ब म’जदूर घ’र बै’ठे ही ए’क फो’न कॉ’ल प’रअ’पना र’जिस्ट्रेशन क’रा स’केंगे, उ’न्हें अ’ब ले’बर डि’पॉर्टमेंट के चक्क’र का’टने की ज’रुरत न’हीं हो’गी।

ऐ’से हो’गा अ’ब रजि’स्ट्रेशन

आ’पको रजि’स्ट्रेशन के लि’ए 1076 नं’बर प’र फो’न कर’ना हो’गा।

डो’रस्टेप डिले’वरी टी’म का सद’स्य मज’दूर के घ’र आ’कर उस’से दस्ता’वेज ले’कर फॉ’र्म भ’र दे’गा औ’र उ’से ऑन’लाइन अप’लोड भी क’र दे’गा।

आवे’दन को ऑन’लाइन स्वीकृ’ति मि’ल जा’एगी।

नि’र्माण मज’दूर अप’ना प्रमा’णपत्र ऑन’लाइन डाउन’लोड क’र सक’ता है। न’हीं तो प्रमा’णपत्र को चा’र से पां’च दि’नों में उस’के घ’र भे’ज दि’या जाएगा।

मजदू’रों को क्या-क्या मि’लेंगी सुवि’धाएं

मज’दूरों को उन’की या उन’के बे’टे-बे’टी की शा’दी के लि’ए 35000 से 51000 रुप’ये दि’ए जाएं’गे।

ब’च्चों की शि’क्षा के लि’ए 500 से द’स ह’जार रूप’ये त’क मा’सिक छा’त्रवृति

हे’ल्थ के लि’ए दो हजा’र से द’स हजा’र त’क मि’लेंगे।

दुर्घट’ना में मौ’त हो’ने प’र दो ला’ख रुप’ये, सा’मान्य मृ’त्यु प’र ए’क ला’ख औ’र अंति’म संस्का’र के लि’ए द’स ह’जार रुप’ये

मा’तृत्व ला’भ के तौ’र प’र ती’स ह’जार रुप’ये

विक’लांगता की स्थि’ति में ए’क ला’ख रुप’ये

सा’ठ सा’ल के बा’द ती’न ह’जार रू’पये पेंश’न मासि’क

ब’ता दें कि अ’ब त’क स्की’म के त’हत के’वल ए’क ला’ख ग्यार’ह हजा’र मज’दूरों का ही र’जिस्ट्रेशन हु’आ है, जब’कि दि’ल्ली में क’रीब द’स ला’ख कं’स्ट्रक्शन ले’बर बता’ए जा’ते हैं।