Categories
News

इ’स पाय’लट ने बता’या मो’दी से जु’ड़ा अनो’खा कि’स्सा, जि’से सु’न आ’प लो’गों को न’हीं हो’गा यकी’न…

वायरल खबर

न’ई दि’ल्ली। प्रधा’नमंत्री नरें’द्र मो’दी की शख्सि’यत ऐ’सी है कि वो ज’हां जा’ते हैं, व’हां लो’ग उन’से का’फी प्रभा’वित हो’ते हैं। ह’र ज’गह अप’नी छा’प छोड़’ने में मा’हिर पी’एम मो’दी ज’ब गु’जरात के मु’ख्यमंत्री थे, त’ब भी वो हमे’शा अ’पनी शै’ली से लो’गों को अ’पना ब’ना ले’ते थे। इ’सी से जु’ड़ा ए’क वाक’या भार’तीय वा’यु से’ना में का’म क’र चु’के ए’क पू’र्व स्क्वा’डन ली’डर ने ट्वि’टर प’र शे’यर कि’या। भारती’य वा’यु से’ना के पू’र्व पा’यलट ने अप’नी बा’त कई सा’रे ट्वी’ट के ज’रिए सो’शल मी़’डिया प’र र’खी। पू’र्व स्क्वा’डन ली’डर शिव’मोहन विनो’द कु’मार ने अप’ने ट्वी’ट के ज’रिए न’रेंद्र मो’दी से प्रभा’वित हो’ने की पू’री कहा’नी बता’ई। आप’को ब’ता दें कि बकौ’ल शिव’मोहन विनो’द कु’मार य’ह वाक’या उ’स सम’य का है, ज’ब नरें’द्र मो’दी गु’जरात के सी’एम हु’आ कर’ते थे। भार’तीय वायु’सेना का हि’स्सा र’ह चु’के शिव’मोहन विनो’द कु’मार ने 16 नवंब’र को क’ई सा’रे ट्वी’ट के ज’रिए पीए’म मो’दी को ले’कर कु’छ ऐ’सा क’हा जो उ’न्हें ता’उम्र या’द रहे’गा। उन्हों’ने अप’ने ट्वी’ट में लि’खा है कि, “का’फी सम’य पह’ले मे’री मां के गुज’र जा’ने के बा’द मु’झे अप’ने बीमा’र पि’ता की देख’भाल कर’ने के लि’ए IAF छोड़’ना प’ड़ा। मे’रे पि’ता कैंस’र से पी’ड़ित थे। हालां’कि उन’की भो मौ’त हो ग’ई तो ए’क बा’र फि’र से मैं अप’ने प्रोफे’य़नल करि’यर को फि’र से शु’रू कर’ने की को’शिश क’र र’हा था औ’र इ’सी क्र’म में मुंब’ई की ए’क प्रा’इवेट कॉ’मर्शियल फ्लाइं’ग कंप’नी में मैं’ने अ’पने नौ’करी की फि’र से शुरु’आत ए’क पा’यलट के तौ’र प’र क’र ली।

भार’तीय वायुसे’ना के पू’र्व पायल’ट ने लि’खा कि, “वायु’सेना से से’वामुक्त हो’ने के बा’द मैं’ने 2003 में मुंब’ई में ए’क कॉ’मर्शियल फ्ला’इंग कंप’नी में नौक’री की। इ’स दौ’रान ह’में ए’क दि’न जान’कारी मि’ली कि कु’छ प्रमु’ख अंतररा’ष्ट्रीय ते’ल औ’र गै’स कंप’नियों के वि’देशी लो’गों के सा’थ कं’पनी के अ’ध्यक्षों के सा’थ उड़ा’न भर’नी है। इ’समें दे’श के क’ई वी’आईपी लो’ग भी शा’मिल हों’गे। व’हीं उ’ड़ान भ’रने के दि’न ह’में जान’कारी मि’ली कि इ’समें गुज’रात के मु’ख्यमंत्री भी सा’थ हों’गे। ज’ब मैं आई’एएफ में र’हा तो दे’श के रा’जनेताओं को लेक’र मे’रे वि’चार स’ही न’हीं थे। खास’कर दे’श में हो र’हे भ्रष्टा’चार की ख’बरों के चल’ते मे’रे अं’दर इन’को ले’कर विचा’र कु’छ ज्या’दा अ’च्छे ब’न न’हीं पा’ए थे।”

उन्हों’ने लि’खा कि, “मैं’ने अप’ने सा’थ के को-पाय’लट से क’हा, राजने’ता हैं तो, निश्चि’त रू’प से दे’री हो सक’ती है। ले’किन ज’ब ह’म हेली’पैड से वी’आईपी लो’गों को ले’ने के लि’ए प’हुंचे, तो मु’झे जो दि’खा वो मे’रे लि’ए आ’श्चर्य से भ’रा था। मु’झे यकी’न न’हीं हो र’हा था कि ए’क रा’ज्य का सीए’म प्रस्था’न के त’य स’मय से 15 मि’नट पह’ले पहुं’चा हु’आ है औ’र खु’द हमा’री प्रती’क्षा क’र र’हा है।”

उन्हों’ने अप’ने ट्वी’ट में आ’गे बता’या कि, इस’के बा’द ह’में सर’कारी गे’स्ट हा’उस ले जा’या ग’या, ज’हां हमा’रे आ’राम कर’ने की अ’च्छी व्यव’स्था थी। मे’रे अनु’भवों में य’ह शा’यद सब’से र’हा कि ए’क राज’नेता ने कै’से पाय’लट के सा’थ इ’स त’रह से व्यव’हार कि’या। य’ह फ्लाइट अहमदाबाद से पिपवा और वहां से अह’मदाबाद की थी। औ’र वो सीए’म को’ई औ’र न’हीं श्री न’रेंद्र मो’दी थे। मैं उ’स दि’न नरें’द्र मो’दी का काय’ल हो ग’या औ’र उन’के ह’र क’दम का फॉ’लो क’रता हूं। औ’र क’भी भी निरा’श न’हीं हु’आ।