Categories
News

69 ह’जार शि’क्षक भ’र्ती: क’ल आ र’हा है ब’ड़ा फैस’ला, प’ढ़ें पू’री ख’बर….

हिंदी खबर

लखन’ऊ: यू’पी में 69 हजा’र शिक्ष’क भ’र्ती माम’ले में सर्वो’च्च न्याया’लय से ब’ड़ी ख’बर आ र’ही है। स’र्वोच्च न्याया’लय क’ल इ’स मा’मलें में अप’ना फैस’ला सु’ना सक’ता है। सुप्री’म को’र्ट में बीटी’सी छा’त्रों की वकी’ल रि’तु रेनु’वाल ने मंगल’वार सु’बह टव्ीट कर इस’की जान’कारी दे’ते हु’ए क’हा है कि क’ल फैस’ला आ र’हा है। रेनुवा’ल के मुताबि’क ज’स्टिस यू’यू ल’लित ने आ’ज ए’क मा’मले की सुन’वाई के दौ’रान य’ह ब’ताया है। ब’ता दे कि इ’स भ’र्ती मा’मलें में स’र्वोच्च न्याया’लय ने बी’ती 24 जु’लाई को अप’ना फै’सला सुरक्षि’त क’र लि&या था।

यू’पी में पि’छले दो सा’लों से 69000 शिक्ष’कों की भ’र्ती माम’लें में वि’वाद च’ल र’हा है

ब’ता दे कि यू’पी में पिछ’ले दो सा’लों से 69000 शिक्ष’कों की भ’र्ती मा’मलें में वि’वाद च’ल र’हा है। प’हले य’ह मा’मला प’रीक्षा के क’ट ऑ’फ को ले’कर न्या’यालय में अ’टका हु’आ था, जि’समें छा’त्रों के ए’क गु’ट का क’हना था कि सर’कार का प’रीक्षा के बा’द क’ट ऑ’फ निर्धा’रित क’रना गल’त है। इ’सी बा’त को ले’कर पू’रा वि’वाद शु’रू हु’आ औ’र माम’ला इला’हाबाद उ’च्च न्यायाल’य त’क पहुं’च ग’या। लं’बे सम’य त’क सुन’वाई के बा’द इलाहा’बाद उ’च्च न्या’यालय ने यू’पी सर’कार के फैस’ले को स’ही मा’नते हु’ए भ’र्ती प्रक्रि’या को ती’न मही’ने के अं’दर पू’रा कर’ने का आदे’श दे दि’या था।

यो’गी आदि’त्यनाथ ने पू’री भ’र्ती प्रक्रि’या को ए’क ह’फ्ते के अं’दर निपटा’ने के आ’देश दि’ए थे

उ’च्च न्याया’लय के आदे’श के बा’द बी’ती 19 सितं’बर को मुख्यमं’त्री यो’गी आदि’त्यनाथ ने पू’री भ’र्ती प्र’क्रिया को ए’क ह’फ्ते के अं’दर नि’पटाने के आ’देश दि’ए थे। ले’किन नं’बरों के क’ट आ’फ प’र शिक्षा’मित्रों ने वि’रोध कि’या औ’र उ’च्च न्याया’लय के फै’सले के खिला’फ स’र्वोच्च न्याया’लय में याचि’का दाय’र क’र दी। इस’के सा’थ ही यू’पी सर’कार द्वा’रा 31 ह’जार 661 प’दों प’र नियु’क्ति कि’ए जा’ने के आ’देश को भी सर्वो’च्च न्याया’लय में चुनौ’ती दे दी।

बीटी’सी छा’त्रों की व’कील रि’तु रेनुवा’ल ने याचि’का दाय’र क’र 31 ह’जार 661 प’दों की भ’र्ती के यू’पी सर’कार के नो’टिफिकेशन प’र रो’क लगा’ने की मां’ग कर’ते हु’ए डा’ली ग’ई या’चिका में क’हा था कि 69 ह’जार शि’क्षक भ’र्ती माम’ले में सर्वो’च्च न्या’यालय ने अप’ना फै’सला सुर’क्षित र’खा हु’आ है। ऐ’से में ज’ब त’क स’र्वोच्च न्या’यालय का फै’सला न’हीं आ’ता है, त’ब त’क 31ह’जार 661 प’दों की भ’र्ती के यू’पी सर’कार के नोटि’फिकेशन प’र रो’क ल’गाई जा’ए।