Categories
News

दु’खद -: अभी अभी भारतीय राजनी’ति में दौड़ी शो’क की लहर, स’दमें में आयें मोदी-शाह…..

खबरें

हरि’याणा की वरिष्ठ नेता और पुडु’चेरी के पूर्व उप राज्यपाल चंद्रा’वती का आज सुबह नि’धन हो गया। वह 92 वर्ष की थी और पिछले कुछ समय से बी’मार चल रही थी। उन्होंने च’रखी दादरी में अपने आवास पर अंति’म सांस ली, उनके निधन से क्षेत्र में शोक का मा’हौल है। उनके निधन की जान’कारी मिलते ही काफी संख्या में लोग उनके आ’वास पर पहुंचने लगे।

70 के द’शक में ज’नता पार्टी की ओर से भिवानी संस’दीय क्षेत्र से चुनाव लड़ते हुए च’रखी दादरी के गांव डालावास की चंद्रावती ने प्रदेश के कद्दा’वर नेता और पूर्व सीएम बंसी’लाल को करारी शिक’स्त देते हुए हरि’याणा की पहली महि’ला सां’सद बनने का गौरव प्राप्त किया था। 1977 में जब राजनीति में महि’लाओं की भागी’दारी न के बरा’बर थी उस समय में चरखी दादरी की चंद्रा’वती ने भिवानी लोक’सभा क्षेत्र के पहले चुनाव में 67.62% वोट लेकर जीत का जो रि’कॉर्ड बनाया था वह आज तक तोड़ा नहीं जा सका है।

चंद्रावती ने अपने जीवन में 14 चुना’व लड़े और संसदीय सचिव, विधा’यक, एमपी, राज्य’पाल जैसे अहम पदों की शोभा बढ़ाई। लेकिन मुख्य’मंत्री न बन पाने की टीस उनके मन में हमे’शा बनी रही। हा’लांकि चंद्रावती का मानना था कि बीते दशकों के दौर में राज’नीति स्वच्छ वह स्पष्टवा’दीता थी अब के दौर में राजनीति सिर्फ भ्रष्टाचार, वंशवाद, स्वार्थ की राज’नीति रह गई है।

भिवानी से हरियाणा की पहली महिला सां’सद रही