Categories
News

कां’ग्रेस ने डु’बाई नै’या: तेज’स्वी के लि’ए ब’न ग’ई मुसी’बत, इस’लिए ल’गा इ’न्हे ब’हुत ब’ड़ा झट’का….

हिंदी खबर

नई दि’ल्ली: बि’हार वि’धानसभा के चु’नावी नती’जों के बा’द ए’क बा’र फि’र ग’ठबंधन में कां’ग्रेस की भूमि’का प’र सवा’ल उ’ठने ल’गे हैं। बिहा’र में महाग’ठबंधन की हा’र की ब’ड़ी वज’ह कां’ग्रेस को मा’ना जा र’हा है। कां’ग्रेस के ल’चर प्रद’र्शन ने महा’गठबंधन की ओ’र से मु’ख्यमंत्री प’द का चेह’रा घोषि’त कि’ए ग’ए तेज’स्वी या’दव को जब’र्दस्त झट’का दि’या है।

कां’ग्रेस ने बि’हार में 70 सी’टों प’र चु’नाव ल’ड़ा था मग’र उस’के 19 विधा’यक ही विधा’नसभा प’हुंचने में काम’याब हो स’के। कां’ग्रेस ने सि’र्फ बि’हार में ही लच’र प्रद’र्शन न’हीं कि’या है ब’ल्कि इ’ससे पह’ले क’ई रा’ज्यों में हु’ए चु’नावों में भी कां’ग्रेस के का’रण गठ’बंधन को नु’कसान उ’ठाना प’ड़ा है। सि’यासी जान’कारों का तो य’हां त’क कह’ना है कि कांग्रे’स गठबं’धन के सह’योगियों के लि’ए ब’ड़ी मुसीब’त साबि’त हो र’ही है।

राज’द का जी’त का प्रति’शत कां’ग्रेस से बेह’तर

य’दि बि’हार विधा’नसभा के चु’नावी नती’जों का विश्ले’षण कि’या जा’ए जो कां’ग्रेस का प्र’दर्शन ह’म औ’र वीआ’ईपी जै’से क्षेत्री’य द’लों की तुल’ना में भी का’फी ल’चर र’हा है। बि’हार चु’नाव में पा’र्टी की जी’त का प्रति’शत सि’र्फ 27.1 फ़ीस’दी र’हा है।

दू’सरी ओ’र य’दि रा’जद को दे’खा जा’ए तो रा’जद की जी’त का प्रति’शत 52.8 फी’सदी र’हा है। ह’म औ’र वीआ’ईपी जै’सी छो’टी पा’र्टियों का भी स्ट्राइ’क रे’ट कां’ग्रेस से का’फी बेह’तर र’हा है। ऐ’से में कां’ग्रेस को इत’नी ज्या’दा सी’टें दे’ने प’र भी सवा’ल उ’ठ र’हे हैं।

कांग्रे’स के कार’ण महा’गठबंधन को झ’टका

बि’हार की सिया’सत को क’रीब से देख’ने वा’लों का मान’ना है कि कां’ग्रेस ने रा’जद प’र द’बाव बना’कर 70 सी’टें तो हासि’ल क’र लीं म’गर इ’न सी’टों प’र लड़’ने के लि’ए दम’दार प्रत्या’शी ही पा’र्टी के पा’स न’हीं थे।

इ’सके सा’थ ही बि’हार में पा’र्टी का संग’ठनात्मक ढां’चा भी का’फी कम’जोर है औ’र पा’र्टी की ओ’र से विधान’सभा चु’नाव ल’ड़ने की म’जबूत तैयारि’यां भी न’हीं की ग’ई थीं। य’ही का’रण था कि बि’हार के चु’नावी नती’जों में पा’र्टी की काम’याबी का प्रति’शत का’फी क’म र’हा है। कांग्रे’स को महा’गठबंधन में 70 सी’टें तो जरू’र मि’ल ग’ईं म’गर उ’सके सि’र्फ 19 विधा’यक ही जी’त स’के।

त’ब बद’ल सक’ती थी बि’हार की त’स्वीर

चु’नाव नती’जों के बा’द सि’यासी जान’कारों का कह’ना है कि य’दि कां’ग्रेस को’टे की कु’छ औ’र सी’टें रा’जद के हि’स्से में आ’ई हो’तीं तो बिहा’र में महा’गठबंधन की सरका’र भी ब’न स’कती थी।

कां’ग्रेस को’टे की कु’छ सी’टों को क’म क’रके वीआ’ईपी औ’र ह’म जै’से सह’योगी द’लों को भी संतु’ष्ट कि’या जा सक’ता था जो बा’द में सम्मान’जनक सी’टें न मि’लने प’र ना’राज हो’कर गठ’बंधन छोड़’कर एन’डीए में शा’मिल हो ग’ए। इ’न दो’नों क्षे’त्रीय द’लों ने चुना’व में अ’च्छा प्र’दर्शन कि’या है।

यू’पी में भी ल’चर था कां’ग्रेस का प्रद’र्शन

य’दि दूस’रे प्रदे’शों के चुना’व का विश्ले’षण कि’या जा’ए तो व’हां भी कां’ग्रेस का य’ही हा’ल र’हा है। महा’राष्ट्र, झार’खंड औ’र तमि’लनाडु चु’नाव के न’तीजे बता’ते हैं कि कां’ग्रेस ग’ठबंधन के सह’योगी प’र द’बाव डा’लकर अधि’क सी’टें तो हा’सिल क’र ले’ती है म’गर उ’सकी जी’त का प्रति’शत अप’ने सहयो’गी से का’फी क’म रह’ता है।

यू’पी के 2017 में हु’ए विधा’नसभा चुना’व में भी ऐ’सी ही स्थि’ति दि’खी थी। कां’ग्रेस ने समाज’वादी पा’र्टी प’र द’बाव डा’लकर 114 सी’टें तो ज’रूर हा’सिल क’र ली थीं मग’र उ’सके सि’र्फ 7 प्रत्या’शी ही जीत’ने में काम’याब हु’ए थे। दू’सरी ओ’र समा’जवादी पा’र्टी का प्र’देश कां’ग्रेस की तुल’ना में ज्या’दा अ’च्छा र’हा था।

महा’राष्ट्र औ’र झार’खंड में भी कां’ग्रेस हु’ई फे’ल

2019 में म’हाराष्ट्र विधा’नसभा के चु’नाव में भी कां’ग्रेस अप’ने सहयो’गी द’ल एन’सीपी से क’मजोर र’ही थी। कां’ग्रेस ने 147 सी’टों प’र चु’नाव लड़’कर 44 सी’टों प’र काम’याबी हा’सिल की थी ज’बकि एन’सीपी ने 121 सी’टों प’र चु’नाव लड़’कर 54 सी’टें जी’त ली थीं।

य’दि झार’खंड चुना’व को दे’खा जा’ए तो झा’रखंड मु’क्ति मो’र्चा ने 43 सी’टों प’र चुना’व ल’ड़कर 30 सी’टों प’र वि’जय हा’सिल की थी जब’कि कांग्रे’स ने 31 सी’टों प’र चु’नाव लड़’कर 16 सी’टें जी’ती थीं।

क्षे’त्रीय द’लों से भी पि’छड़ र’ही कां’ग्रेस

तमिल’नाडु के चु’नाव में कां’ग्रेस ने डीए’मके के सा’थ गठ’बंधन कि’या था म’गर चु’नाव के न’तीजों में कांग्रे’स की जी’त का प्रति’शत डी’एमके से का’फी क’म र’हा था।

सि’यासी जान’कारों का कह’ना है कि अ’पने रा’ष्ट्रीय स्व’रूप के द’म प’र कां’ग्रेस क्षेत्री’य द’लों प’र दबा’व डाल’कर ज्या’दा सी’टें तो हासि’ल क’र ले’ती है म’गर उस’का प्रद’र्शन क्षे’त्रीय द’लों की अपे’क्षा का’फी कम’जोर रह’ता है। ऐ’से में कां’ग्रेस ग’ठबंधन के सह’योगी द’लों प’र भी बो’झ बन’ती जा र’ही है।

प्रदे’शों में कां’ग्रेस का संग’ठन का’फी कम’जोर

कां’ग्रेस के ए’क व’रिष्ठ ने’ता का भी क’हना है कि य’ह स’च बा’त है कि वि’भिन्न प्रदे’शों में पा’र्टी का संग’ठनात्मक ढां’चा कम’जोर है औ’र उ’से मजबू’त ब’नाने प’र ध्या’न दे’ना हो’गा।

उन्हों’ने मा’ना कि ज’ब त’क कां’ग्रेस वि’भिन्न प्रदे’शों में अप’ना संग’ठन मज’बूत न’हीं क’रती त’ब त’क बि’हार वा’ली कहा’नी ही दोह’राई जा’ती र’हेगी। अ’ब दे’खने वा’ली बा’त य’ह हो’गी कि बि’हार से स’बक ले’ते हु’ए कां’ग्रेस हाई’कमान क’ब प्रदे’शों में अप’ने संग’ठन को मज’बूत ब’नाने प’र ध्या’न दे’ता है।