Categories
News

मुं’बई इंडि’यंस की जी’त की खु’शी में नी’ता अं’बानी से हु’ई ब’हुत ब’ड़ी गल’ती, मुं’बई की माल’किन का हु’आ….

वायरल खबर

मुं’बई इंडि’यंस के खिला’ड़ी इंडि’यन प्रीमि’यर ली’ग में पांच’वीं बा’र खि’ताब जी’तने के बा’द मैदा’न प’र ही ज’श्न म’ना र’हे थे। को’ई ना’च र’हा था तो को’ई अ’पनी खु’शी दुनि’या से सा’झा क’र र’हा था, इ’स बी’च टी’म की माल’किन नी’ता अं’बानी ला’इव इं’टरव्यू के बी’च में आ ग’ई। गल’ती का एहसा’स हो’ते ही उन्हों’ने तु’रंत ही इ’से सु’धार भी लि’या।

दरअ’सल, मै’च के बा’द क्विं’टन डी’कॉक आधि’कारिक प्रसा’रणकर्ता स्टा’र स्पो’र्ट्स को इं’टरव्यू दे र’हे थे, जि’सका ला’इव टेली’कास्ट जा’री था। अचा’नक से नी’ता ने डी’कॉक को आ’वाज ल’गाई औ’र इंट’रव्यू रु’क ग’या। हा’लांकि तु’रंत ही व’ह च’लीं भी ग’ईं। खु’शी के माहौ’ल के बी’च मैदा’न प’र फि’र ठहा’के भी गूं’जने ल’गे।

द’क्षिण अफ्री’की विके’टकीपर बल्लेबा’ज क्विंट’न डीकॉ’क ने क’हा कि को’विड-19 के सम’य में परि’वार से दू’र रह’ना मुश्कि’ल था, ले’किन विज’यी टी’म का हि’स्सा बन’कर अ’च्छा ल’ग र’हा है। सह’योगी स्टा’फ ह’र कि’सी ने अ’पनी अ’हम भूमि’का निभा’यी। उन’के सह’योग के बि’ना य’ह सं’भव न’हीं था।’
 

मुंब’ई ने मंग’लवार को फा’इनल में दि’ल्ली कै’पिटल्स को पां’च वि’केट से हरा’कर अप’ने खि’ताब का भी बचा’व कि’या। व’ह आई’पीएल की सब’से सफ’ल टी’म भी ब’न ग’ई है औ’र इस’लिए पो’लार्ड ने उ’से वि’श्व की सर्व’श्रेष्ठ टी-20 टी’म ब’ताया।

टी’म के ऑ’लराउंडर क्रुणा’ल पां’ड्या ने क’हा, ‘बहु’त कु’छ श्रे’य हमा’री तै’यारियों को जा’ता है। ह’म ए’क मही’ने प’हले य’हां आ ग’ए थे औ’र ह’र को’ई अप’नी भूमि’का जा’नता था। ह’र को’ई खे’लने के लि’ये अ’पनी सर्व’श्रेष्ठ स्थि’ति में था।’

हा’र्दिक पां’ड्या पी’ठ द’र्द के का’रण इ’स स’त्र में गेंद’बाजी न’हीं क’र पा’ए, ले’किन उन्हों’ने जो भू’मिका नि’भाई, उस’से व’ह खु’श हैं। उन्हों’ने क’हा, ‘मैं इस’से परे’शान न’हीं हूं। मैं’ने जो कि’या उस’का लु’त्फ उठा’या। मे’रे य’ह मौ’का मिल’ने से जु’ड़ा है। य’ह स’ब कु’छ तैया’रियों से जु’ड़ा है। ह’मने अ’च्छे प्रद’र्शन कर’ने औ’र लगाता’र सु’धार क’रने प’र ध्या’न दि’या।’

ते’ज गेंदबा’ज जस’प्रीत बुम’राह ने क’हा कि व’ह शु’रू से ही ल’य में थे भ’ले ही शुरु’आती मै’चों में उ’न्हें जू’झना प’ड़ा था। उन्हों’ने क’हा ‘पह’ले मै’च से मु’झे ल’ग र’हा था कि मे’री ल’य अ’च्छी र’ही। ज’ब मैं’ने ए’बी डीवि’लियर्स औ’र वि’राट को’हली के खिला’फ सुप’र ओ’वर कि’या तो उस’के बा’द मे’रा आत्म’विश्वास ब’ढ़ा। मैं’ने ची’जों को स’रल ब’नाए र’खा औ’र ह’र स’मय बे’सिक्स प’र ध्या’न दि’या।’

सूर्य’कुमार या’दव ने क’हा, ‘तै’यारियां, प्रक्रि’या औ’र रूटी’न म’हत्वपूर्ण हो’ता है। आ’पको अ’पने कौ’शल का प्रद’र्शन क’रना हो’ता है। व’ह (रोहि’त के सा’मने अप’ना वि’केट गंवा’ने के बा’रे में) त’ब अ’च्छी बल्ले’बाजी क’र र’हा था। व’ह पा’री संवा’र र’हा था इस’लिए मु’झे अप’ना विके’ट गं’वाने का दु’ख न’हीं है।’

ई’शान कि’शन ने क’हा, ‘ईमा’नदारी से क’हूं तो मैं इ’स स’त्र से प’हले ब’हुत अ’च्छी स्थि’ति में न’हीं दि’ख र’हा था। मैं’ने क्रुणा’ल औ’र हार्दि’क (पं’ड्या) से बा’त की त’था अ’पनी फिट’नेस औ’र ऑ’फ सा’इड के खे’ल प’र का’म कि’या।’

फाइ’नल में अं’तिम एका’दश में ज’गह न’हीं ब’ना पा’ने वा’ले रा’हुल चा’हर ने क’हा, ‘मे’रा न’हीं खेल’ना म’हत्वपूर्ण न’हीं है, खि’ताब जी’तना म’हत्वपूर्ण है। मु’झे ब’हुत अ’च्छा ल’ग र’हा है कि मैं’ने टी’म को खि’ताब दि’लाने में अप’नी भूमि’का नि’भाई।’

टूर्ना’मेंट में फा’इनल सहि’त के’वल दो मै’चों में खेल’ने वा’ले ज’यंत याद’व ने क’हा, ‘लगा’तार दो सा’ल चैंपि’यन टी’म का हि’स्सा ब’ना शा’नदार अह’सास है। इ’ससे हमा’री टी’म की म’जबूती का प’ता चल’ता है। य’ह पू’रे स’त्र में कि’ए ग’ए प्रया’सों का परि’णाम है।’