Categories
News

बुरी खबर-: अभी अभी भारतीय रा’जनीति में दौड़ी शो’क की ल’हर, नही रहे गुजरात के पूर्व सीएम केशुभा’ई पटेल……

खबरें

गुज’रात के पूर्व मु’ख्यमं’त्री और रा’ज्य के दिग्ग’ज ने’ता के’शुभाई प’टेल का निध’न हो गया है. गुरुवार सुबह सांस लेने में त’कलीफ होने के बाद के’शुभाई पटेल को अस्प’ता’ल ले जाया गया, जहां उन्होंने अं’तिम सांस ली. के’शुभाई पटेल की उम्र 92 साल थी.

कुछ वक्त पहले ही केशुभाई पटेल को’रो’ना वा’यर’स से पॉ’जि’टिव पाए गए थे, हालांकि उन्होंने कोरो’ना को मा’त दे दी थी. राज्य के मुख्य’मंत्री विज’य रुपा’णी ने केशुभाई प’टेल के परिवा’र से बात की और दु’ख व्यक्त किया. केंद्री’य मं’त्री निति’न ग’डक’री ने भी के’शुभाई पटे’ल को श्र’द्धांज’लि दी.

गु’जरात के पूर्व मु’ख्यमं’त्री के’शुभाई पटे’ल जी को मेरी भा’वभीनी श्रद्धांज’लि। गुजरात की प्रगति में और प्रदेश में भाजपा संगठन को मजबूत करने में केशुभाई का योगदान हमेशा याद रखा जायेगा। ईश्वर दि’वंगत आ’त्मा को शां’ति प्रदान करें। ॐ शांति

— Nitin Gadkari (@nitin_gadkari) October 29, 2020
केशुभाई पटेल के बेटे के मुताबिक, कोरो’ना को मा’त देने के बाद भी उनकी त’बीय’त लगातार बिगड़ती जा रही थी. लेकिन गुरुवार सु’बह सांस लेने में तक’ली’फ के बाद जब उन्हें अ’स्पता’ल ले जाया गया, तब इ’लाज में उन्होंने कोई रि’स्पॉन्ड न’हीं किया था.

दो बार बने गुजरात के मुख्यमं’त्री


केशुभाई पटेल ने दो बार गुजरात के मुख्य’मं’त्री का पद संभा’ला था, वो 1995 और 1998 में रा’ज्य के मुख्यमं’त्री बने थे. लेकिन 2001 में उन्हें पद से इस्ती’फा देना पड़ा था. हालांकि, दोनों ही बार केशुभा’ई पटेल अपने कार्यकाल को पूरा नहीं कर पाए थे. इसके अलावा केशुभा’ई पटेल गुज’रात के उ’पमुख्यमं’त्री का भी पद संभाल चुके हैं. 2001 में मुख्यमंत्री पद से उनके इस्तीफा देने के बाद ही नरेंद्र मोदी गुजरात के मु’ख्यमं’त्री बने थे और 2014 तक राज्य में स’त्ता के केंद्र में रहे.

के’शुभाई प’टेल का जन्म जूना’गढ़ में 24 जुलाई 1928 को हुआ था, काफी कम उम्र में ही उन्होंने राष्ट्रीय स्वयं’से’वक सं’घ ज्वा’इन कर लिया था. जिसके बाद जन’संघ और फिर बी’जेपी के साथ लंबे वक्त तक रहे.

गुज’रा’त में भार’तीय जन’ता पा’र्टी के दि’ग्ग’ज नेता
केशुभाई पटे’ल की गिनती गुजरात में भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता’ओं में होती रही है, जिन्होंने जन’सं’घ के वक्त से ही पार्टी के लिए काम किया था. राज्य में भाज’पा की ओर से पहले सीएम भी के’शुभाई पटेल ही थे. प्रधा’नमं’त्री नरेंद्र मो’दी ने भी के’शुभाई पटेल के साथ लंबे वक्त तक काम किया और अक्सर नरेंद्र मोदी, केशुभाई पटेल का आशीर्वाद लेने के लिए जाते थे.

बी’जेपी में अनबन होने के कारण केशुभाई पटेल ने 2012 में अपनी नई पार्टी बनाई थी, जिसका नाम गुजरात परि’वर्तन पार्टी रखा था. हालांकि, 2014 में केशुभाई पटेल ने अपनी पार्टी का विल’य फिर से बी’जेपी में कर दिया था.