Categories
News

पलक झपकते 11 साल के बच्चे ने बैं’क से उ’ड़ाए 20 लाख रुपए, ऐसे दिया घट’ना को अं’जाम देखिए त’स्वीरें….

वायरल खबर

को’न्ट्राक्ट पर बच्चे करते है चो’री का काम

छोटे ब’च्चों में भी किस ह’द तक अप’राध घर कर गया है, यह घ’टना पढ़कर आपको ख्या’ल आ जाएगा। हरि’याणा के जींद में 28 तारीख को पं’जाब नेश’नल बैं’क में से 20 ला’ख रुपये नग’द चो’री हो गये। चो’री की इस घ’टना को 11 वर्ष के बच्चे ने अं’जाम दिया। यह घ’टना सी’सीटी’वी कैम’रे में कै’द हो गई। बताया जा रहा है कि बैं’क में चोरी यह घट’ना तब बनी थी जब कैशि’यर ने नए नो’ट गिन कर पैसे रखे थे। जब वॉ’शरूम जाने के लिये के’बिन में बिना लॉ’क किये ही निकल गया। इसी दौ’रान बैं’क में मौ’जूद 11 साल का एक बच्चा और उसके साथ एक अ’न्य बा’लक, नो’टों के बं’डल अपने पास मौजू’द बै’ग में डालकर निकल लिये। शाम को जब कैशि’यर का हि’साब नहीं मिला और सी’सीटी’वी कै’मरे की जां’च की गई, तो सारा माम’ला प्रका’श में आया।

जीं’द के मा’मले में सरस’री रू’प से कैशि’यर की लापर’वाही सामने आई है, जो कै’बिन को लॉ’क किये बिना ही वहां से चला गया। ए’सएच’ओ ने मा’मले में शिका’यत द’र्ज कर जां’च शु’रु की है।

रि’पोर्ट के अनु’सार भिवा’नी जिले में भी कुछ दिनों पहले 6 लाख रुपयो की चो’री हुई थी। इस चो’री में भी एक बच्चा शा’मिल था। जानकारों का मानना है कि इस प्रकार बच्चों के मा’ध्यम से चो’री की वार’दातों में शा’तिर गि’रोह शा’मिल है। ये गिरो’ह ठे’के पर अपने यहां ऐसे बच्चों को रखता है और उनसे चो’री कर’वाता है और चो’री के बदले उन्हें कुछ रक’द दी जाती है। यदि चो’री में पक’ड़े जाते हैं तो जिम्मेदा’री चो’री करने वाले की ही रहती है।

बैं’कों में बच्चे किस प्रकार चो’री करते हैं इसका अंदा’जा मध्यप्र’देश की ही एक अन्य वार’दात के इस वी’डियो से लगाया जा सकता है। ब’च्चों पर आ’म तौ’र पर श’क भी नहीं होता। लेकिन आ’श्चर्य की बात यह है कि वे कै’शियर की कै’बिन तक पहुंच जाते हैं और घट’ना को अं’जाम देकर फरा’र भी हो जाते हैं।