Categories
News

अनोखी प्रथा-: यहॉ पति के मौ’त के बाद काट दिया जाता है, पत्नी का ये अंग, जानकर कॉप उठेंगी रूह😱👇

खबरें

ये बात सुनकर भी आपको इतनी है’रा’नी हो रही है तो सोचिये जिनके साथ ऐसा होता है उनपर क्या बी’तती होगी आपको बता दे की इस वि’शेष ज’न’जा’ति की प्रथा के अ’नुसा’र घर के मु’खिया की मृ’त्यु होने के बाद उसके घर की सभी महिला स’दस्यों की उँ’गलि’याँ कु’ल्हाड़ी से का’ट दिया जाता है और यही नहीं उनके चे’हरे पर का’लिख और मि’टटी का तेल पो’तकर उन्हें स’रेआ”म पूरे का’बिले में श’र्मिंदा भी कि’या जाता है और महिलाओं के साथ किये गये इस अ’मानवी’य कृ’त्य के पीछे एक तथ्य ये दिया जाता है की “प’रि’वार के महिला सदस्य की उँ’गलि’याँ काटने से उन्हें जो द’र्द होता है उससे मृ’त व्यक्ति की आ’त्मा को शांति मिलती है “

जी…अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और इंडोनेशिया इत्यादि जैसे देशों में कई ऐसी ज’नजा’ति’यां रहती हैं जो अपनी हजारों साल पुरानी जीवन पद्धति को जारी रखे हुए हैं. ऐसी ही एक ज’नजाति’यों में एक है इं’डो’नेशि’या के प’पुआ’गि’नी द्वीप में रहने वाली दा’नी ज’नजा’ति. दा’नी ज’न’जा’ति में आज भी एक ऐसा रि’वा’ज प्रचलित है जिसे सिर्फ ब’र्बर ही कहा जा सकता है. इस ज’नजा’ति की महिलाओं को किसी रि’श्तेदा’र की मौ’त पर अपनी अं’गुलियों के सि’रे को काटना पड़ता है

इस क’बीले की परंपरा के अनुसार घर के मुखिया की मौ’त की स’जा महिलाओं को जिंदगी भर भुगतनी पड़ती हैं. इस द’र्दनाक और अ’मानवी’य प्र’था के पीछे इनका मानना है कि ऐसा करने से मर’ने वाले की आ’त्मा को शां’ति मिलती है.अं’गुली का’टने से पहले उन्हें रस्सी से बांध दिया जाता है ताकि खून का प्रवाह रूक जाए, उसके बाद कुल्हाडी से उनकी अं’गुलियां को काटा जाता था