Categories
धार्मिक

श’रीर के इन हि’स्सों पर बना हुआ तिल, व्य’क्ति को बनाता है ध’नवान….

धार्मिक खबर

स’मुद्रशास्त्र में हथे’ली पर बनी हुई ल’कीरों और अलग-अलग तरह के निशा’नों से व्य’क्ति के भा’ग्य, सेह’त, जी’वन, पारि’वारिक स्थि’त और स्वभा’व के बारे में का’फी जान’कारियां प्रा’प्त होती हैं। हथे’ली पर बनी लकी’रों के अला’वा व्य’क्ति के शरी’र के अलग हि’स्सों में ति’ल भी बने हुए होते हैं जिनका समु’द्रशास्त्र में वि’शेष म’हत्व होता है। समु’द्र शा’स्त्र के अनु’सार श’रीर के कुछ हि’स्से में बने कुछ ति’ल जहां शु’भ माना जाता है तो वहीं कुछ को अशु’भ भी माना गया है। आइए जानते हैं श’रीर के हि’स्सों में बने ति’ल का क्या होता है म’तलब…  

1. पी’ठ पर बना ति’ल
 कई लोगों के पी’ठ में ति’ल बना हुआ होता है। यह ति’ल आ’कार में छो’टा या ब’ड़ा दोनों तरह का हो सकता है। ऐसे में जिन लोगों के पी’ठ में ति’ल बना होता है वे का’फी आ’कर्षक व्य’क्तित्व के ध’नी होते हैं। ऐसे लोग बहुत ही कम सम’य में शि’खर तक पहुं’च जाते हैं।

2. पे’ट पर बना ति’ल
 कुछ लोगों के पे’ट पर ति’ल बने हुए होते हैं। स’मुद्र शा’स्त्र के अनु’सार पे’ट पर ति’ल का होना अच्छा सं’केत नहीं होता है। ऐसा व्य’क्ति ज्यादा बी’मार और ख’र्चीला होता है। ऐसे व्य’क्ति के पास पै’सा बहुत ही कम टि’कता है। 

3. ह’थेली पर बना ति’ल
जिन लोगों को ह’थेली के बीच में किसी प्रकार ति’ल बना होता है और मु’ट्ठी को बं’द करने पर वह ति’ल छि’प जाता है वह का’फी शु’भ माना जाता है। ऐसे लोगों के पास ध’न कम मेहन’त करने पर भी आता है।

4. हो’ठ पर बना ति’ल
 हो’ठों पर बना ति’ल व्य’क्ति को का’फी सु’ख-समृ’द्धि से सं’पन्न बनाता है। ऐसे लोग दूसरे की म’दद से का’फी पै’सा बनाते हैं और ऐ’शो आ’राम से अपना जी’वन व्य’तीत करते हैं।
 

6.गु’रु पर्व’त पर बना ति’ल
अगर आपकी हथे’ली पर गु’रु पर्व’त के ऊप’र ति’ल बना हुआ हो तो इसका मत’लब आपके जीव’न में कभी भी ध’न की क’मी महसू’स नहीं होगी। ऐसे लोगों का जी’वन सु’ख और स’मृद्धि के साथ बीत’ता है।