Categories
News

पास’वान की प’हली प’त्नी का द’र्द : राम’वि’लास दे गए थे तलाक, मगर उनकी राज’कुमा’री ने न घर छो’ड़ा न पति

हिंदी खबर

केंद्रीय मंत्री राम:वि’ला:स पास’वान के नि’ध’न’ से उनकी पहली पत्नी रा:ज’कुमा’री देवी पूरी तरह से टूट गईं हैं। शनि:वार सुब’ह वह रामविलास का चेहरा देख बे’हो’श हो’कर गि’र पड़ीं। उन्हें : सं:भाल:ने में लगीं: थी, पा’नी का छीटा मार रहीं थीं, ले’कि’न वह एक प’ल के लिए होश में आतीं फिर अचे’त हो जातीं। यह देख वहां मौ’जूद हर कि’सी की आं’खों में आं’सू आ गए।

मौ/त की खबर सुनने के बा’द से ही हैं बे’सु’ध : रामविलास की पहली पत्नी राजकुमारी पर भले ही कें’द्री’य मंत्री की च’मक धम’क का असर न पड़ा हो, लेकिन रा’मवि’ला’स की सला”’मती के लिए हमे’शा उनकी मांग का सिंदूर चमकता रहा। राम’विला’स ने उन्हें तलाक दे दिया था, मगर रा’ज’कुमा’री देवी ने घर नहीं छोड़ा। पति से दूर र’ह’क’र भी वह हमेशा अपनी सुहाग की सला’मती के लिए दु’आ कर’ती रहीं।

शनिवार को उनके साथ आईं महि’लाएं और स्काॅर्पियो चालक रमेश ने बताया कि जब से यह खबर मिली है उसके बाद से ही वह लगातार रो रही हैं। न भूख न प्यास, बस हर पल अपने पति के लिए बिलख’ती रहीं। रमेश का कहना है कि रा”स्तेभर पानी तक नहीं पिया। ज्या”दातर स’मय अचे”त रहीं, जब भी हो”श में आईं द”हा:ड़े मार मा”र’कर रोने लगीं।

राम’विला”स की पत्नी शनिवार सुबह 8 बजे ‘ पुरी’ पहुं’चीं। घर के ‘बाहर कार्य’कर्ता’ओं की खचा”खच भी’ड़ थी। भी’ड़ के बी’च’ ‘ की स्कॉ’र्पि’यो रु’की और ‘उनकी हालत देख वहां मौजूद हर कोई गम में डूब” गया। गाड़ी में राजकुमारी को दो महि’लाएं सं’भा’ल रही थी। घर की चौ”खट पर पहुं’चते ही उन’की हा’लत और बिगड़ गई। रो-रो ‘ चे’हरा ‘ ‘सूज गया था, आं’ख भी’ बहु’त सू’जी थी। श’री’र में इतनी शक्ति नहीं थी कि वह गाड़ी से उतर ‘सकें। गाड़ी से महि,ला,ओं ने उ’ता’रा और’ स’हा,रा देकर अं,द,र ले गईं। हा,लां,कि प,रि,वा,र का कोई स,दज़ज़स्य उन्हें रि,सी,व कर,ने या सहारा देने घर से बाहर नहीं निकला। वह घर की दहलीज पार करते ही द’हा’ड़े मार,क,र रो रही थी। राजकुमारी अपने पा”स’वान का शव देखते बेसुध हो गईं।

राजकुमारी देवी खगड़िया जिले के श’हर’बन्नी गांव स्थित रामविलास के पै’तृ’क घर में रहती हैं। पति के अं”ति’म द’र्श’न के लि’ए वह 180 किलोमीटर की दूरी तय कर पटना आईं। गुरुवार की शाम जब उन्हें रामविलास के निधन की ख’ब’र मिली तभी से वह स’द’में में हैं। शुक्रवार को वह पटना में रह रही अप’नी बे’टी आशा पासवा’न के घ’र आ’ईं’ थी। श’नि’वार सु’बह वह पट’ना के कुम्हरार स्थि’त बेटी के घर से एसके पुरी आईं।’