Categories
News

जब पत्नी के लियें बु’जुर्ग नें घर में ही बनवा दिया ICU, वजह जान रह जाओगें दं’ग….

वायरल खबर

नई दिल्ली. कहते हैं न एक जीव’नसाथी ही आखि’री सां’स तक साथ देता है. चाहे कितनी भी परे’शानी क्यों न आए, या फिर उ’म्र और से’हत भले ही साथ क्यों न दे रही हों लेकिन अगर आपके साथ आपका पा’टर्नर है तो हर मु’श्किल चु’नौती को भी आ:सान बनाया जा सकता है. ऐसी ही एक जो’ड़ी म’ध्यप्रदेश के जबल’पुर में रह रही है. रिटा’यर्ड इं’जीनियर ज्ञा’न प्रका’श अपनी बी’मार प’त्नी को अ’स्पताल में अके’ले नहीं छो’ड़ना चाहते थे इसलिए उ’न्होंने घर को ही आ’ईसी’यू में तब्दी’ल कर दिया. अब वह दिनभ’र साथ में रहते हैं और एक दू’सरे का हा’ल जान’ते हैं.

रिटाय’र्ड इंजी’नियर ज्ञा’न प्रका’श ने कोई डॉ’क्टरी की पढ़ा’ई या को’र्स नहीं किया है लेकिन वह अपनी प’त्नी का ख्या’ल अ’स्पताल के स्टा’फ की तरह ही रखते हैं. अपनी प’त्नी की बेह’तर से’हत के लिए उ’न्होंने ऑ’क्सीजन सि’लेंडर से लेकर वें’टीलेटर तक की व्य’वस्था घ’र पर की हुई है. ज्ञा’न प्रका’श ने बताया कि उनकी प’त्नी कुमु’दनी श्री’वास्तव को अस्थ’मा है. पिछ’ले 4 सा’लों में वह घर पर कम और अ’स्पताल में ज्या’दा रही हैं. पि’भ्ले सा’ल जब वह अपनी प’त्नी को अस्पता’ल से लेकर घर प’हुंचे तो उ’न्होंने सो’च लिया कि वह अब दोबा’रा अ’स्पताल नहीं जा’एंगे. इसके बाद उन्हों’ने घर को ही अस्प’ताल में तब्दी’ल कर दिया.

ज्ञा’न प्र’काश ने अपने घर में ऑ’क्सीजन पाइ’पलाइन की फि’टिंग कर’वाई है. इसके साथ ही जिस कमरे में उनकी प’त्नी रहती हैं उसमें ने’बुलाइजर, एय’र प्यू’रीफायर, स’क्शन मशी’न और वें’टिलेटर लगाया गया है. उन्हों’ने बताया कि अस्प’ताल के आई’सीयू वा’र्ड की तरह ही उन्हों’ने एक कमरे को तैया’र किया है