Categories
धार्मिक

अगर सं’तान की शिक्षा, क’रियर या शादी की हो चिं’ता तो करे ये सरल चम’त्कारी उपाय….

धार्मिक खबर

ज्योति’ष में बृ’हस्पति को सं’तान कार’क माना जाता है. इसके बाद सू’र्य से भी संता’न का संबं’ध होता है. इन दोनों में से किसी भी ग्र’ह के क’मजोर होने से संता’न को लेकर चिं’ताएं होती हैं. पं’चम भा’व के कम’जोर होने से भी सं’तान की चिं’ता ज्या’दा हो जाती है. रा’हु का प्रभा’व ज्या’दा होने से भी सं’तान को लेकर अका’रण चिं’ताएं होती हैं. क’र्क, वृ’श्चिक, मी’न, वृ’ष, क’न्या और म’कर राशि के ब’च्चों के माता पिता को सं’तान की चिं’ता ज्या’दा होती है.

अगर सं’तान के स्वभा’व और व्यव’हार को लेकर स’मस्या हो

घर में एक पी’ले रं’ग के ग’णेश जी की स्था’पना करें. नि’त्य प्रा’तः गणे’श जी को दू’र्वा अ’र्पित करें. इसके बाद “ॐ वि’घ्नहर्त्रे नमः” का 108 बार जा’प करें. इसके बाद इसी दू’र्वा को अपनी सं’तान के कमरे में ले जा’कर रख दें. इस दू’र्वा को हर दिन बद’ल दें.

अगर सं’तान के शि’क्षा या करि’यर की चिं’ता हो

नि’त्य प्रा’तः सू’र्य को रो’ली मिला’कर ज’ल अ’र्पित करें. ॐ रव’ये नमः” का 108 बार जा’प करें. लो’टे के किना’रों पर लगी हुयी रो’ली का तिल’क सं’तान को ल’गाएं. शनिवार को नि’र्धनों को ह’लवा, पू’री और च’ना बां’टें. 

अगर सं’तान के विवा’ह की सम’स्या हो

घर में शि’व पा’र्वती की स्थाप’ना करें. नि’त्य प्रा’तः उन्हें गुला’बी पु’ष्प अ’र्पित करें. इसके बाद “ॐ गौ’रीशंकराय नमः” का तीन माला ज’प करें. शुक्र’वार के दिन उन्हें खी’र का भो’ग लगाएं. इस खी’र को अपनी संता’न को ग्रह’ण कराएं.

अगर सं’तान के वैवा’हिक जी’वन में स’मस्या हो

हर मंग’लवार और शनि’वार को शा’म को हनु’मान जी के सामने चमे’ली के तेल दीप’क जलाएं. उन्हें ब’ताशे का भो’ग लगाएं. इसके बाद उनके सामने सुन्दर’काण्ड का पा’ठ करें. बता’शों का प्रसा’द बां’ट दें. मंगल’वार और शनि’वार को घ’र में सा’त्विक भोज’न ही बनाएं.