Categories
News

Breaking : अभी अभी बॉ’लीवुड पर टू’टा दु’:खों का प’हाड़, नही रही अ’मिताभ ब’च्चन की…….😭

खबरें

हिंदी सि’नेमा की जा’नीमा’नी और अमिताभ बच्चन की करीबी अ’भिनेत्री आशालता वाबगांवकर का नि’धन हो गया हैं। 83 साल की अ’भिनेत्री मुंबई के स’तारा अ’स्पताल में ए’डमिट थी। बताया जा रहा हैं कि बेटे दिनों वह को’रोना वा’यरस से सं’क्रमि’त पाई गई थीं, जिसकी वजह से उनका इ’लाज सतारा अ’स्पताल में भ’र्ती कराया गया था। लेकिन मंगलवार सुबह 4:45 के क’रीब उन्होंने आ’खरी सा’स ली। घ’रवालों ने बताया कि वह अ’स्पताल में अपनी म’राठी सी’रियल ‘आई क’लुबाई’ की शू’टिंग करने पहुंची थीं। जहां उनकी को’रोना जांच की गयी। और वह वा’यरस से सं’क्रमित पाई

आपको बता दें, कि आ’शालता वाब’गांवकर ने म’राठी और हिंदी फि’ल्मों की म’शहूर अभि’नेत्रियों में से एक थीं। उनका 2 जुलाई ,1941 को गोवा में हुआ था। अपने जी’वन काल में उन्होंने 100 से ज्या’दा हिंदी और म’राठी फि’ल्मों में काम किया था। वही नहीं अ’भिनेत्री ने म’राठी फि’ल्मों के लिए गा’ने भी गाए थे।

उन्हों’ने अपनी हिं’दी फ़ि’ल्मी की शु’रुआत

फिल्म’जं’जीर’ से की थी। इस फिल्म में आ’शाल’ता वा’बगांवक’र ने अ’मिता’भ बच्चन की सौ’तेली मां का कि’रदा’र किया था। लेकिन उन्हें असली प’हचान बा’सु च’टर्जी की फि’ल्म अपने प’राए से मिली थी। आ’शाल’ता वाब’गांवक’र ने अं’कुश, अपने पराए, आ’हिस्ता आ’हिस्ता, शौ’किन, वो सात दिन, नमक ह’लाल और यादों की क’सम स’हित कई शा’नदार फिल्में की थीं।