Categories
Other

यूपी में अब बच्चे नहीं ब’ल्कि पैरेंट्स जा’एंगे स्कू’ल, क्या होंगे नियम …

यू’पी में सो’मवार से भले ही प’रिषदीय स्कूलों के ब’च्चों के लिए वि’द्यालय न खुल रहे हों लेकिन अ’भिभावकों के लिए यह स्कूल खुल जाएंगे। ऐसे बच्चे जिनके पास ऑनलाइन पढ़ाई के कोई सं’साधन नहीं हैं उनके अ’भिभावकों को स’प्ताह में अपने ब’च्चों का हो’मवर्क लेने के लिए स्कूल जाना होगा। घर में जो भी प’ढ़ा लिखा हो जैसे माता-पिता, चाचा-चाची, भाई-बहन वह स्कूल जा सकते हैं। 

प’रिषदीय स्कूलों में वैसे तो अ’प्रैल से व्हॉट्सएप व अन्य मा’ध्यमों से पढ़ाई के प्र’यास हो रहे हैं लेकिन सभी समझ रहे हैं कि सं’साधनों के अ’भाव में इन्हें ऑनलाइन शि’क्षा का लाभ नहीं मिल पा रहा है।  ऐसे में महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन यादव ने कानपुर समेत पूरे प्रदेश के बेसिक शिक्षा अ’धिकारियों को मिशन प्रेरणा की ई-पाठशाला के द्वि’तीय चरण का जो शे’ड्यूल भेजा है उसमें बच्चों के स्थान पर अभिभावकों के माध्यम से शि’क्षण सा’मग्री भेजने, हो’मवर्क कराने और इसे पूरा क’राकर स्कूल लाने की जिम्मे’दारी सौंप दी है।

हर घंटे स्कूल आएंगे 10 अ’भिभावक
आदेश के अनुसार वि’शेषकर ऐसे बच्चे जिनके अभिभावक व्हॉट्सएप से नहीं जुड़े हैं, उन प:रिवारों में पढ़े-लिखे सदस्यों को सप्ताह में एक दिन विद्यालय बुलाया जाएगा। उन्हें पूरे स’प्ताह की शैक्षिक का’र्ययोजना व कोर्स के बारे में जा’नकारी दे दी जाएगी। सोशल डि’स्टेंसिंग एवं को’विड 19 के प्रो’टोकॉल का अ’नुपालन करते हुए हर घंटे 10 अभि’भावकों को बु’लाया जा सकता है। शि’क्षकों से कहा गया है कि जब अ’भिभावक स्कूल आएं तो उन्हें हर वह बात स’मझाने का प्र’यास करें जिस’से बच्चों की पढ़ाई हो सके और वे हो’मवर्क पूरा कर सकें।

शै’क्षिक सा’मग्री साझा करें
बच्चों को स्वयं सीखने के लिए अ’भिभावकों के माध्यम से उन्हें प्रे’रित किया जाएगा। यह मागया है कि बच्चों को किताबें, व’र्कबुक आदि उ’पलब्ध कराया जा चुका है। इसके बावजूद अ’भिभावकों से संवाद कर उन्हें शैक्षणिक सा’मग्री जैसे कि’ताबें, वर्कबुक (जहां न मिली हों) अन्य गति’विधियों से जुड़ी सा:मग्री आदि सा’झा की जाएगी। जो व्हॉट्सएप पर हैं उन्हें वि’शेष वीडियो भी उपलब्ध क’राए जाएंगे।

हर दिन होगी समीक्षा 
खंड शिक्षा अ’धिकारी, एके’डमिक रि’सोर्स पर्सन (एआरपी), शि’क्षक सं’कुल आदि के स्तर से हर दिन स्कूलों की स’मीक्षा की जाएगी। सप्ताह में एक बार ऑनलाइन समीक्षा बैठक होगी। बेसिक शि’क्षा अ’धिकारी डॉ. पवन कुमार ति’वारी ने बताया कि आ’देश का पूरी तरह पा’लन कराया जाएगा। जो नि’र्देश पहले से मिले हैं, उसी के अनुसार शै’क्षिक व्य:वस्था चल रही है।