Categories
धर्म

बे’डरूम में न’हीं र’खनी चा’हिए ये ब’स्तुए, ब’रना हो स’कती है…..

बे’डरूम घ’र का वो हि’स्सा हो’ता है, ज’हां दि’न भर की थ’कान के बाद व्य’क्ति आ’राम म’हसूस करता है और नीं’द पूरी करता है. ले’किन अ’गर बे’डरूम की दि’शा, बे’डरूम में र’खा सा’मान और सोने की दि’शा वा’स्तु के अ’नुरूप नहीं है तो कई त’रह की प’रेशानियों का सा’मना कर’ना प’ड़ सकता है. दा’म्पत्य जी’वन में क’लह-क्ले’श, आ’र्थिक सं’कट और खा’सकर सेहत सं’बंधी परे’शानियों आ स’कती हैं.

घर के बेड’रूम में वा’स्तु दोष होने से नका’रात्मक ऊ’र्जा उ’त्पन्न होती है, जि’ससे प’ति-प’त्नी के बीच त’नाव रहता है. वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अ’नुसार बे’डरूम से सं’बंधित कुछ बा’तों का ध्यान र’खकर घर में पॉ’जिटिव ए’नर्जी आ सकती है.

आ’इए जा’नते हैं वा’स्तु के अ’नुसार घर का श’यनकक्ष या’नी बे’डरूम कै’सा हो’ना चा’हिए…..

> बेड’रूम उत्त’र-पूर्व या द’क्षिण-पू’र्व में नहीं हो’ना चा’हिए. द’क्षिण-पूर्व में बेड’रूम होने से दं’पत्ति के बीच झगड़ा होता है, जबकि उत्तर-पूर्व में होने से स्’वास्थ्य सं’बंधी परे’शानियां हो स’कती हैं. 

> श’यनकक्ष या’नी बे’डरूम में आ’क्रामक जा’नवरों या प्रा’णियों की त’स्वीरें व दे’वी-दे’वताओं की क्रो’धित मु’द्रा में त’स्वीर या मू’र्ति नहीं हो’नी चा’हिए. हा’लांकि, रिश्ते को बे’हतर क’रने के लिए रा’धा-कृष्ण का वि’ग्रह ल’गाया जा स’कता है.

> मा’स्टर बे’डरूम जि’समें घर का मु’खिया सो’ता है, वो नै’ऋत्य को’ण (द’क्षिण- प’श्चिम का को’ना) में होना चा’हिए.

> ब’च्चों का क’मरा घर के पू’र्व या उ’त्तर-प’श्चिम में हो’ना चा’हिए.

> शय’नकक्ष में पू’जा घर (पू’जा स्थ’ल) नहीं र’खना चा’हिए.

>बे’डरूम का आ’कार चौ’कोर या आ’यत में हो’ना चा’हिए.

> शय’नकक्ष में दर्प’ण या शी’शा बे’ड के सा’मने नहीं हो’ना चा’हिए.

> वास्’तु के अ’नुसार अ’नुकूल दि’शा में सि’र र’ख कर सो’ना चा’हिए.

> बेड’रूम की दी’वार पर पू’र्वजों की त’स्वीरें न’हीं टं’गी हो’नी चाहि’ए.

> बेड’रूम में गु’लाबी, आस’मानी या ह’ल्के हरे रंग का पेंट क’राएं. इ’ससे स’कारात्मक ऊ’र्जा में वृ’द्धि होती है.

> बेड’रूम में कि’सी भी त’रह का अ’गर इले’क्ट्रॉनिक सा’मान है, तो उसे कम’रे के द’क्षिण-पू’र्वी को’ने में रख’ना चा’हिए.

> बेड’रूम में ऐ’सी को’ई त’स्वीर न लगा’एं, जो हिं’सा को द’र्शाती हों. सा’थ ही बे’ड के सि’रहाने वा’ली दी’वार पर घ’ड़ी या फो’टो फ्रे’म न ल’गाएं.