Categories
Other

कोरोना के मरीज में दिखा चौ’कानें वाला लक्षण, डॉक्टर्स हुयें है’रान..👇

खबरें

कोरोनावायरस के लक्षण विभिन्न देशों में अलग-अलग तरह से दिखे हैं। इसलिए इसका इलाज करना और अधिक क’ठि’न हो जाता है। हर दिन कोरोना के नए रूप सामने आ रहे हैं। ऐसे में लोगों का इलाज करना काफी मु’श्कि’ल हो रहा है। अब भारत में कोरोना का एक ओर नया स्वरूप सामने आया है, जिसमें कोरोना से सं’क्रमि’त मरीज का डेंगू के बुखार की तरह प्लेटलेट्स काउंट कम हो रहा है।

उत्तरप्रदेश के लखनऊ जिले में एक मरीज का ऐसा लक्षण सामने आया, जिसने डॉक्टर्स को चौं’का दिया है। डॉक्टर्स ने देखा कि कोरोना के मरीज के प्लेटलेट्स काउंट में काफी तेजी से गि’राव’ट आ रही है। आमतौर पर यह लक्षण डेंगू के मरीजों में दखा जाता है। कोरोना के इस नए मामले में रोगी के प्लेटलेट्स काउंट गिरकर 20 हजार से अधिक नीचे चले गए।

डॉक्टर्स के अनुसार, डेंगू के लक्षण दिखने पर जब मरीज का डेंगू टेस्ट किया गया, तो उसमें डेंगू के अन्य लक्षण नहीं दिखे। जांच के बाद खु’ला’सा किया गया कि मरीज कोरोना की गंभीर अवस्था से गुजर रहा है। रिपोर्ट की माने तो इस जांच के बाद डॉक्टर्स ने इस पर रिसर्च करना शुरू कर दिया है। कोरोना के मरीजों में प्लेटलेट्स का घटना काफी चिंता कर देने वाली बाते हैं, क्योंकि इसको मैनेज करना काफी मु’श्कि’ल हो रहा है।

खबरों के अनुसार, पीजीआई में भर्ती लोकबंधु अस्पताल के डॉक्टर के ब्लड की प्लेटलेट्स अचानक से गिरने लगी थी। डॉक्टर का प्लेटलेट्स भर्ती होने के दूसरे दिन ही दस हजार पहुंच गया था। एक्सपर्ट के मुताबिक. एक आम व्यक्ति के शरीर में प्लेटलेट्स की कुल संख्या 1.5 लाख से 4.5 लाख होनी चाहिए।

कोरोनावायरस हमारे शरीर का इम्यून सिस्टम प्रभावित करता है। जिसके कारण मोनोसाइड और मैकरोफेज कोशिकाओं पर भी विपरीत प्रभाव पड़ने लगता है। इसी कारण से शरीर में प्लेटलेट्स की खपत बढ़ जाती है, लेकिन उत्पादन पहले की मात्रा में ही हो रहा होता है। अचानक से शरीर में प्लेटलेट्स की डिमांड बढ़ने के कारण इसकी संख्या घट जाती है। ऐसे में मरीजों को अलग से प्लेटलेट्स चढ़ाया जाता है। साथ ही जरूरत पड़ने पर प्लाज्मा थेरेपी दी जाती है।