Categories
News

ची’न और ने’पा’ल मिलकर भारत के खि’ला’फ रच रहे हैं ये बड़ी सा’जि’श,जानकर हो जायेगे है’रा’न…

हिंदी वायरल खबर

लद्दा’ख में भारत और ची’न के बीच त’नाव का’फी बढ़ा हुआ है। लेकिन अब ख’बर आ रही है कि ची’नी ऑ’र्मी ने ल’द्दा’ख के अलावा अरु’णाचल प्रदेश और उत्त’राखं’ड पर भी न’जर लगाई हुई है। सू’त्रों के अनुसार, उत्त’रा’खंड से सटे सी’मा पर कुछ निर्माण ची’न की ओर देखा गया है।

सू’त्रों ने बताया कि यह नि’र्मा’ण कुछ हट की शे’प में है। ये नि’र्मा’ण ने’पाल के लिपू पास के करीब देखा गया है। माना जा रहा है कि सी’मा से स’टे हुए इला’के में ची”न अपनी ओर सीमा पर नए नि’र्माण में जुटा है। जानकारी के मु’ता’बिक ची’न का ये नया निर्मा’ण जिस इ’ला’के में देखा गया है, वह ची”न का जोजो गांव चंपा मैदान है, जो नेपा’ल से स’टा है।

माना जा रहा है कि ची’न के दबाव में ने’पाल उस’का साथ दे रहा है, जिससे सी’मा पर भारत और नेपा’ल में वि’वा’द हो सकता है। चीन का जो गांव ने’पा’ल के तिनका लिपू पास से करीब 7 से 8 किलोमीटर की दूरी पर है। जा’न’कारी के मुता’बिक नेपाल सीमा पर करी’ब 200 नए बॉ’र्डर पो’स्ट भी बना रहा है। सि’क्कि”म और उत्त’रांच’ल से स’टे सी’मा पर चीन की तरफ से निर्माण जारी है, जिसपर खु’फि’या एजें’सि’यों की पूरी न’ज’र है।

उत्त’राखंड क्यों रखता है म’हत्‍व

उत्त’रा’खंड में ची’न के साथ 350 किलो’मीटर की सीमा और नेपाल के साथ 275 किलो’मी’टर की सी’मा है। राज्य के 13 जिलों में से पांच सीमावर्ती जिले हैं। च’मो’ली और उ’त्तर’का’शी की ची’न के साथ सी’माएं हैं, जबकि उधम सिंह न’गर और चं’पा’वत की ने’पा’ल के साथ सीमाएं हैं।

ची’न और नेपा’ल दोनों के साथ सी’मा’एं होने के कारण पि’थौरा’गढ़ रण’नीति’क रूप से ब’हुत संवे’दन’शील है।

र’डा’र और सा’मरिक एय’रफी’ल्ड्स

हाल ही में उत्त’रा’खंड स’र’का’र ने ची’न – चमोली, पिथौ’रागढ़ और उत्त’रका’शी में सीमा’वर्ती तीन जिलों में वायु र’क्षा र’डा’र स्था’पित करने के लिए भारतीय वायु से’ना (आई’ए’एफ) को भूमि प्रदान करने पर स’हम’ति व्य”क्त की है। आ’ईएए’फ ने पहा’ड़ी क्षे,त्रों में अ’प’नी गति’विधि’यों को सु’वि”धाज’नक ब’नाने के लिए एक नया उ’न्नत लैंडिंग ग्रा’उंड विक’सित क’रने का भी प्र’स्ता’व दि’या है।