Categories
News

देश का सबसे बड़ा और सस्ता कैं’स’र हॉ’स्पि’टल, 10 रुपये में होगा इला’ज, मो’दी क’रें’गे उ’द्घा’टन…

हिंदी खबर

झ”ज्जर में तै”यार हुए देश के सबसे बड़े कैं’स’र सं”स्थान में प्रो’टोन थै’रेपी की भी व्यव’स्था की गई है. यह ऐसी थैरेपी है जिसमें प्रो’टो’न बीम से मरीजों के कैं’स’र के ट्यू’मर को न’ष्ट कर दिया जाता है. इसके लिए ए’म्स ने अत्या’धु’निक म’शी’न का ऑर्डर भी दे दिया है. निजी अस्पतालों में इस मशीन से इलाज का खर्च 20 से 25 लाख रुपये तक जाता है.हरियाणा के झज्जर में आज देश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय कैं’स’र सं’स्था’न (National Cancer Institute) शुरू होने जा रहा है. प्रधा”नमं’त्री नरेंद्र मोदी कु’रु’क्षे’त्र से वीडियो कॉ’न्फ्रें’सिंग के जरिए इसका उ’द्घा’टन करेंगे.

बताया जा रहा है कि फिलहाल राष्ट्रीय कैंसर संस्थान में 50 बेड की सुविधा शुरू की जा चुकी है. इस साल के अंत तक यहां 400 बेडों की सुविधा शुरू कर दी जाएगी. फिलहाल संस्थान की ओपीडी में 80 से 100 मरीजों को देखा जा रहा है.

राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के निदेशक डॉक्टर जीके रथ ने बताया कि दिल्ली के एम्स से भी यहां मरीज लाए जा रहे हैं. साल 2020 तक 500 बेड की सुविधा शुरू करने का लक्ष्य है. यहां मार्च से ऑपरेशन थियेटर और रे’डियो’थे’रेपी की सुवि’धा भी शु’रू हो जा’एगी.

प्रो’टो’न थैरे’पी से नष्ट होगा ट्यू’म’र…

गौरतलब है कि झ’ज्ज’र में तै’या’र हु’ए दे’श के सबसे बड़े कैं’सर सं’स्था’न में प्रोटोन थै’रेपी की भी व्यवस्था की गई है. यह ऐसी थैरेपी है जिसमें प्रोटोन बीम से म’री’जों के कैंसर के ट्यूमर को नष्ट कर दिया जाता है. इसके लिए एम्स ने अ’त्या’धुनि’क मशीन का ऑ’र्डर भी दे दिया है. निजी अस्पतालों में इस मशीन से इलाज का खर्च 20 से 25 लाख रुपये तक जाता है.

केवल कैंस”र कोशि’का”ओं को ही ब’नाता है निशाना…

बता दें कि प्रोटोन थैरेपी केवल कै’सर कोशिकाओं को ही निशाना बनाती है. जबकि आसपास की स्वस्थ को’शि’का’ओं को नुक’सा’न नहीं पहुंच’ता है. इससे” शरीर’ ‘के अन्य हिस्सों’ पर रेडिए’शन का दुष्प्र’भा’व नहीं पड़”ता है.  

फीस महज 10 रुपये…

झज्जर के राष्ट्रीय कैंस,र संस्थान की फीस महज 10 रुपये होगी. यह ओपीडी शुल्क होगा. पिछले माह ही इस संस्थान में ओपीडी सेवा शुरू की गई थी. फि’ल’हा’ल एम्’स से यहां मरीज रेफर किए जा रहे हैं.