Categories
News

ममता स’र’का’र ने मं’दि’रों में पूजा कराने वाले पुजा’रियों के लिए किया अहम फै’स’ला! अब नही रहेंगे…

हिंदी वायरल खबर

नई दिल्‍ली: पश्चिम बं’गाल की ममता स’रका’र अब हर म’ही’ने मंदिरों में पू’जा करने वाले पंडितों को 1 हजार रुपये देगी. इस योजना के तहत 8 हजार पंडितों को ये लाभ मिलेगा. ये उसी तरह है, जैसे वक्‍फ बोर्ड सभी इमामों को हर महीने व’जी’फा देता है. इसके अलावा ऐसे पंडित जिनके पास घर नहीं है, उन्हें बं’गाल आ’वास यो’जना में शा’मिल किया जाएगा. राज्‍य के पुरो’हि’तों ने सर’का’र से जमीन की मांग की थी. जिसमें वे रा’जर’हाट में एक संस्था की स्था’पना करेंगे. 
एक प्रेस कॉन्‍फ्रें’स में पश्चिम बं’गाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने ये अहम घोषणा की. इसके अलावा उन्‍होंने कोविड-19, हिंदी दिवस पर भी बात की. उन्‍होंने कहा, ‘कोविड पर ग्‍लोबल ए’डवा’इज’री बोर्ड ने महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की है. वे राज्य में ब’ढ़’ती टेस्‍ट की संख्‍या, बेड की संख्‍या से खुश हैं. हम पहले से ज्‍यादा संख्‍या में मुफ्त एंबुलेंस उपलब्‍ध करा रहे हैं. उन्‍होंने दु’र्गा पूजा को लेकर भी सुझाव दिए हैं और कहा है कि पूजा के पंडाल खुले हों, ताकि वेंटिलेशन अच्‍छा रहे.’ 
बीजेपी अध्‍यक्ष घोष को बनाया निशाना 
पश्चिम बंगाल में बीजेपी के अध्‍यक्ष दिलीप घोष पर निशाना साधते हुए बनर्जी ने कहा,  ‘कुछ लोग कह रहे हैं कि कोरोना खत्म हो गया है. आपको बता दें, कोरोना खत्म नहीं हुआ है. यह कोरोना का पहला चरण है और इसका दूसरा चरण भी हो सकता है. इसीलिए कोविड के सभी प्रोटोकॉल का सख्‍ती से पालन करें, सैनिटाइजर का उपयोग करें, मास्क पहनें, हाथ धोएं.’ 
बनर्जी ने कहा, ‘आज हिंदी दिवस है, हमारी मातृभाषा बांग्‍ला है लेकिन हम अन्य सभी भाषाओं को भी बराबर सम्मान देते हैं. हमने बंगाली के अलावा, हिं’दी, उ’र्दू, का’मता’पुरी, राजबंशी, ओल चिकी को भी मान्यता दी है. हमने 2011 में हिंदी अकादमी की घोषणा की थी. अब हम इस पर काम कर रहे हैं. इसके लिए एक समिति का गठन किया गया था.’