Categories
News

अस्पताल बने शम’शान,कचरे के ढेर में पड़ी हुई है को’विड मरीजों की ला’शें,देख कर रो देगे आप..

हिंदी खबर

विश्व भर में म-हामारी के चलते जन्हा इसकी वे-क्सिन तैयार किये जाने की खबरे सुनने को मिलती रहती है ! लेकिन इसकी कोई वे-क्सिन मार्किट तक नही आई है ! जिससे को-वि-ड -19 से पी-ड़ित लोगो का सही तरीके से उपचार नही हो पा रहा है ! जिससे मृ-त-को की संख्या बढती जा रही है ! राजकोट के सिविल अ-स्पता-ल से ऐसी ही एक खौ-फना-क तस्वीर सामने आई है !

दैनिक भास्कर की रिपोट के अनुसार राजकोट में मौतों की सही संख्या कितनी है और मृतको की हालत कैसी है ये देखने के लिए दैनिक भास्कर की एक टीम राजकोट के सिविल अस्पताल पहुंची !जन्हा उन्होंने ने देखा अस्पताल में शवो की संख्या इतनी थी कि शव वाहन के ड्राइवर और श्मशान में काम करने वाले सेवको के पास न तो खाना कहने का समय था और न ही सोने का !अंतिम क्रिया के लिए श्मशान में शवो को वेटिंग पर रखा जा रहा है !

दैनिक भास्कर की एक टीम ने अस्पताल से श्मशान तक 14 रिपोटिंग की है ! अस्पताल में उन्होंने देखा की स्टाफ कब्रिस्तान और श्मशान में मृतको की अन्तिमक्रिया करने के लिए फोन कर रहा है और शव वाहनों में एक साथ दो -दो शवो को रखा जा रहा था ! जिससे टीम ने यह अनुमान लगा लय था की शवो की संख्या अधिक है ! यह जाने के लिए टीम अस्पताल के शव गृह तक पहुच गयी !

वंहा टीम ने देखा कि शव गृह का एक दरवाज़ा खुला हुआ था ! लॉबी में एक दीवार के साथ 9 शवो को रखा गया था ! एक शव के ऊपर एक बैग और पोलीथीन भी रखा हुआ था और शवो के आसपास कचरे का ढेर पड़ा हुआ था ! तभी शव वहन के एक ड्राइवर से बात करने पर पता चला कि वे 6 चक्कर लगा चूका है ! शवो की संख्या अधिक होने की वजह से हर चक्कर में 2-2 शवो को लेजाया जा रहा है

पास के कब्रिस्तान में मुस्लिम मृतको को और हिन्दू मृतको को रामनाथ पूरा श्मशान लेजाया जा रहा है ! शव वहन के पीछे -पीछे दैनिक भास्कर की टीम रामनाथ पूरा श्मशान तक गयीं ! जन्हा उन्होंने दिनेश भाई से बातचीत की जो श्मशान में भट्टी चलाने का काम करते है ! दिनेश भाई ने बताया कि हालात इतने खराब होगये है कि 15-20 दिनों से 24 घंटे शवो का अंतिम संस्कार किया जा रहा है ! आज भी सुबह से भट्टी एक बार भी बंद नही हुयी है !

अभी दिन के 1बजे है और अब तक 8 शव आ चुके है ! और दिनेश भाई ने बताया कि 1से डेढ़ घंटे के समय में समान्य कद के शव की अंतिम क्रिया पूरी हो जाती है ! भट्टी का तापमान 600 डिग्री सेल्सियस होता है ! कोविड -19 के मृतको की अंतिम क्रिया में ढाई से तीन घंटे का समय लग जाता है ! 27 अगस्त को 18 शवो की अन्तिमक्रिया की गयी थी !इस से पहले यंहा की भट्टी इतनी देर तक कभी नही चली है !

दिनेश ने कहा रात के समय ही ही सबसे ज्यादा अन्तिमक्रिया की जाती है ! रात के समय ही अस्पताल से शव भेजे जाते है ! श्मशान के रजिस्टर से यह रिकॉर्ड मिला है ! रात के 9 बजे से सुबह के 7 बजे तक 7-10 शवो की अंतिम क्रिया की जा रही है ! गुरूवार को गुजरात में कोरोना पीडितो का आंकड़ा 1 लाख से ऊपर(100375) पहुँच गया है !

राज्य में कोरोना का पहला केस राजकोट और सूरत में 19 मार्च को आया था ! सूरत में कोरोना से होने वाली पहली मौत 22 मार्च को दर्ज करे गयी थी ! इसके बाद मृतको की संख्या बढती गयी ! प्रदेश में एक ही दिन में 1325 नये मामले सामने आये है ! प्रदेश में तीन दिन में मरीजों की संख्या 1300 से ऊपर पहुच गयी है ! एक दिन में 16 मरीजों की मौत होने से मौतों का आंकड़ा बढ़कर 3064 पर पहुच गया है !