Categories
Other

फॉ’सी के पहलें मु’जरि’म के कान में एक बात जरूर बोलता है ज’ल्ला’द, जानें क्या???

खबरें

हमारे देश का क़ा’नू’न बहुत ही अच्छा है जो जैसा करता है उसको वैसी स’जा मिलती है हमारे देश में इतने कड़े का’नू’न बने होने के बाद भी अ’परा’ध रु’क’ने का नाम नहीं ले रहा हम लोग आये दिन अ’परा’ध की बहुत सी घ’टना’ये सुनते है ,ये ‘अपरा’धी अ’परा’ध करने से पहले ये नहीं सो’च’ते है की इस जु’र्म की स’जा क्या होगी जिससे की ये कभी ऐसे अ’परा’ध कर जाते है जो की बहुत ही भ’यान’क सा”बि’त होते है ,आज हम दी जाने वाली स’जा’ओ में से फां’सी की बात करने वाले है ये स’जा इंसान का जीवन ख़’त्म कर देती है आज हम जो ख’ब’र लाये है इसी से मिलती हुयी है क्या आप जानते है की जब ज’ल्ला’द किसी को फां’सी देता है तो उसके कान में क्या कहता है शायद आप नहीं जानते होंगे तो आइये जाने ..

जैसा की हम सभी जानते है की हमारे का’नू’न में कुछ ऐसे जु’ल्म है जिनकी स’जा सजाये मौ’त होती है ,ये ऐसे अ’परा’ध होते है जिससे मानव समाज को बहुत बड़ी क्ष”ति पहुँचती है। भारत में जब किसी अ’परा’धी को फां’सी होती है तो ज’ल्ला’द कैदी को फांसी देने से पहले उसके कान में कुछ कहता है और इसके बाद ही अ’परा’धी को फां’सी दी जाती है।

लेकिन क्या आपको पता है की ज’ल्ला’द कै’दी के कान में क्या कहता है। शायद आप नहीं जानते होंगे, तो आइये आपको हम बता दे की जब फां’सी दी जाती है तो ज’ल्ला’द कान में क्या कहता है !

जब कै’दी को फां’सी देना होता है तो कुछ समय पहले ज’ल्ला’द अ’परा’धी के कान में मा’फ़ी मांगता है और कहता है कि “मुझे मा’फ़ कर दो भाई, मैं म’जबू’र हूँ”.

यदि म’र’ने वाला व्यक्ति हिन्दू हो तो ज’ल्ला’द उसको “राम राम” बोलता है वहीँ अगर म’र’ने वाला व्यक्ति मु’स्लि’म हो तो ज’ल्ला’द उसको अंतिम “स’ला’म” बोलता है.

साथ ही ज’ल्ला’द उनसे कहता है कि “मैं सरकार के हु’कु’म का गु’ला’म हूँ इसलिए चाह कर भी कुछ नहीं कर सकता”.

बस इतना कह कर ही वह फां’सी का फं’दा खीं’च देता है.