Categories
News

अमेरिकी डॉक्टरों ने किया बड़ा खुलासा: हिचकियों का आना भी हैं कोरोना का लक्षण…..

खबरें

इस वक्त कोरोना महामारी ने सारी दुनिया के लोगों को घेरकर रखा हुआ है। आज हर कोई इस महामारी से डरा हुआ है। दुनियाभर के डॉक्टर्स भी इस महामारी का इलाज तलाशने में लगे हुए है किन्तु अब तक इस महामारी से निजाद पाने की कोई वेक्सीन नहीं बन पाई है। 

इस बीच कोरोना से फैलनेवाली कोविड-19 की बीमारी के अब तक अनेक लक्षण समक्ष आ चुके हैं। उनमें सबसे आम लक्षण बुखार, गले का सूजन, सांस लेने में दुश्वारी तथा सूंघने-स्वाद का क्षरण है। अब विशेषज्ञों की माने तो लगातार हिचकियों का आना भी कोरोना वायरस का लक्षण हो सकता है। 

क्या हिचकी भी कोरोना का लक्षण हो सकता है?
अमेरिकी जर्नल ऑफ इमरजेंसी मेडिसीन में प्रकाशित रिपोर्ट में इस सिलसिले में कहा गया है। रिपोर्ट  की माने तो 62 साल के मरीज को लगातार 4 दिनों तक हिचकी आने के पश्चात कोरोना की जांच में सकारात्मक पाया गया।

कुक काउंटी हेल्थ के डॉक्टरों का कहना है कि शिकागो निवासी व्यक्ति को प्रारम्भ में कोई और लक्षण नहीं था। हिचकियों के सिवा उसे किसी और रोग की शिकायत नहीं थी। उसके फेफड़े के स्कैन से मालुम हुआ कि फेफड़े बुरी हालत में थे क्योंकि उसमें सूजन आ चुका था। 

फेफड़े में सूजन बना हिचकियों का कारण 
पश्चात में रोगी को बुखार भी हो गया। इस दौरान चिकित्स्कों ने उसका टेस्ट किया तो उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया। चिकित्स्कों की माने तो सिटी स्कैन से मरीज के फेफड़े में सूजन का विस्तार से मालुम हुआ। उनके मुताबिक ये सूजन ही हिचकियों का कारण बना। चिकित्स्कों के मुताबिक कोरोना का अब तक का ये ऐसा मामला है जिसे हिचकियों की वजह से इमरजेंसी वार्ड में दाखिल होना पड़ा। 

अस्पातल में उसे सेटरियाक्सोन, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन तथा एजीथरोमाइसीन दिया गया। तीन दिन अस्पताल में रहने के पश्चात वो ठीक होकर घर जाने की स्थिति में हुआ। विशेषज्ञों की माने तो यदि आपको 48 घंटे तक हिचकी का आना बंद नहीं हो रहा है तो चिकित्स्कों से जरूर संपर्क किया जाना चाहिए।