Categories
Other

बड़ी खुशखबरी: कोरोना वैक्सीन की एक खुराक की कीमत होगी मात्र इतने रुपये! सबको मिलेगा आसानी से

देश में कोरोना संक्रमण हर रोज नए रिकॉर्ड बना रहा है. पिछले 24 घंटे के अंदर 62 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी अपडेट के मुताबिक, अब देश में कुल मरीजों की संख्या 20 लाख से अधिक है. इसमें 41 हजार 585 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना से अब तक 13 लाख 78 हजार से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 6 लाख से अधिक एक्टिव केस है. आईसीएमआर के आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब तक 2 करोड़ 27 लाख से अधिक सैंपल का टेस्ट किया जा चुका है. कल यानी गुरुवार को ही 6 लाख 39 हजार टेस्ट किया गया था.

 सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने शुक्रवार को कहा कि उसने भारत और दूसरे कम व मध्यम आय वाले देशों के लिए कोविड-19 वैक्सीन के 10 करोड़ खुराक का उत्पादन करने को लेकर गावि और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के साथ गठजोड़ किया है. सीरम इंस्टीट्यूट ने एक बयान में कहा, ‘‘यह गठजोड़ सीरम इंस्टीट्यूट को विनिर्माण क्षमता बढ़ाने में मदद करने के लिए अग्रिम पूंजी प्रदान करेगा, ताकि एक बार किसी वैक्सीन या वैक्सीन को नियामकीय मंजूरियों और विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्वीकृति मिल जाने के बाद गावि कोवैक्स एएमसी के तहत 2021 की पहली छमाही तक भारत और अन्य कम-मध्यम आय वाले देशों में वितरण के लिये पर्याप्त खुराक का उत्पादन किया जा सके.’’

कंपनी ने बताया कि उसने प्रति खुराक तीन डॉलर यानी करीब 225 रुपये की किफायती दर निर्धारित की है. यह वित्तपोषण एस्ट्राजेनेका और नोवावैक्स के संभावित वैक्सीन के विनिर्माण में भी समर्थन प्रदान करेगा. इन दो कंपनियों के वैक्सीन अभी ट्रायल से गुजर रहे हैं. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अदार पूनावाला ने कहा, ‘‘कोविड-19 के खिलाफ हमारी लड़ाई को मजबूत बनाने की कोशिश में सीरम इंस्टीट्यूट ने भारत और निम्न व मध्यम आय वाले देशों के लिये कोविड-19 के वैक्सिन्स की 10 करोड़ खुराक तैयार करने को गावि और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के साथ गठजोड़ किया है.’’