Categories
News Other

Breaking New : 15 अगस्त को आयेगी कोरोना वैक्सीन, पीएम मोदी कर सकते हैं घोषणा!! ICMR ने दी मंजूरी……..

खबरें

कोरोना महामारी के खिलाफ भारत अपनी वैक्सीन बनाने की कोशिश में काफी तेजी ला चुका है. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने कोरोना का टीका बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक को एक पत्र लिखकर मानव परीक्षण को फास्क ट्रैक मोड पर चलाने के लिए कहा है.

आईसीएमआर ने कहा है कि भारत बायोटेक द्वारा कोरोना वैक्सीन के इंसानों पर परीक्षण के परिणाम 15 अगस्त तक जारी किए जा सकते हैं. इसका मतलब है कि देश की पहली स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सिन 15 अगस्त तक लॉन्च हो सकती है.

आईसीएमआर ने भारत की अग्रणी वैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक को पत्र लिखकर कोविड19 वैक्सीन की मानव परीक्षण प्रक्रिया को जल्द पूरा करने के लिए कहा है.

आईसीएमआर डीजी बलराम भार्गव ने स्वदेशी कोरोना वैक्सीन की परीक्षण प्रक्रिया को जल्द पूरा करने के लिए भारत बायोटेक और मेडिकल कॉलेजों के प्रमुख रिसर्चर को एक पत्र लिखा है. इस पत्र में लिखा गया है कि मानव परीक्षण की प्रक्रिया को 15 अगस्त से पहले पूरा किया जाए ताकि 15 अगस्त तक क्लीनिकल ट्रायल के परिणाम लॉन्च किए जा सकें. इसके बाद 15 अगस्त को देश में बनी पहली कोरोना वैक्सीन कोवैक्सिन को लॉन्च किया जा सकता है.

इस पत्र में लिखा गया है कि यह भारत द्वारा विकसित किया जा रहा पहला स्वदेशी वैक्सीन है और सर्वोच्च प्राथमिकता वाली परियोजनाओं में से एक है. इसे सरकार के सर्वोच्च स्तर पर मॉनिटर किया जा रहा है. इस वैक्सीन को सार्स कोव-2 से डेराइव किया गया है जिसे आईसीएमआर द्वारा अलग किया गया है.

पुणे की आईसीएमआर और बीबीआईएल संयुक्त रूप से प्री-क्लिनिकल के साथ-साथ इस टीके के क्लीनिकल ट्रायल पर काम कर रहे हैं.

इससे पहले आईसीएमआर के महानिदेशक का भारत बायोटेक का लिखा एक पत्र लीक हुआ था, जिसमें वैक्सीन के 15 अगस्त तक तैयार होने की बात कही गई थी. इस पत्र में लिखा गया था कि वैक्सीन के सार्वजनिक उपयोग के लिए 15 अगस्त तक अधिकतम समय की आवश्यकता होगी. पत्र में कहा गया है कि कृपया ध्यान दें कि गैर-अनुपालन को बहुत गंभीरता से देखा जाएगा, इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि आप इस परियोजना को सर्वोच्च प्राथमिकता दें और किसी भी चूक के बिना तय समय में इसे पूरा करें.