Categories
Other

अगस्त की इस तारीख को राम मंदिर में होगा भूमि-पूजन, शामिल हो सकते हैं PM मोदी

दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस का कोहराम जारी है. विश्व में अबतक 213 देश कोरोना संक्रमण की चपेट में है. पिछले 24 घंटे में 2.24 लाख नए मामले सामने आए हैं, जबकि 5,008 लोगों की मौत हो गई. कोरोना संक्रमण के आंकड़ों पर नजर रख रही वेबसाइट वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, दुनिया में एक करोड़ 44 लाख से ज्यादा संक्रमण के मामले आ चुके हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 6 लाख को पार कर गई है. अभी तक 6 लाख 4 हजार से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो चुकी है. इसी बीच ख़बर आयी हैं कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका हैं. आइये आपको बताते हैं इससे जुड़ी पूरी बात.

राम मंदिर निर्माण को लेकर रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की शनिवार को बैठक हुई. इस बैठक में इस पर चर्चा की गई कि भूमिपूजन की तारीख क्या हो. खबर ये भी है कि प्रधानमंत्री कार्यालय को रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से 3 अगस्त और 5 अगस्त की तारीख भेजी गई है. हालांकि सूत्रों ने कहा है कि प्रधानमंत्री 5 अगस्त को अयोध्या जा सकते हैं. लिहाजा, इसी दिन भूमि पूजन का कार्यक्रम संपन्न होने की संभावना है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन में शामिल हो सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री अयोध्या में भूमिपूजन में हिस्सा लेकर इसे संपन्न करा सकते हैं.

सूत्रों ने ‘आजतक’ को बताया है कि राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम 5 अगस्त को 8 बजे शुरू हो सकता है. प्रधानमंत्री उस दिन 11 से 1 बजे के बीच अयोध्या पहुंच सकते हैं. पीएमओ के सूत्रों का कहना है कि इसका पूरा प्लान लगभग तैयार कर लिया गया है. विश्व हिंदू परिषद और श्री रामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र न्यास के सूत्रों के मुताबिक द्वितीया सह तृतीया तिथि अपने आप में सर्वार्थ सिद्धि योग वाली है. इसलिए प्रधानमंत्री इस दिन अयोध्या आ सकते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पहले भी न्यास के अध्यक्ष और श्री मणिराम जी की छावनी के श्रीमहंत नृत्यगोपालदास ने पत्र लिख कर श्रावणी पूर्णिमा और भाद्रपद कृष्ण पक्ष की द्वितीया की दोनों तिथियों के मंगल मुहूर्त का ब्योरा और न्योता दोनों भेजे थे.