Categories
News

कि’न्नरों का अं’तिम संस्का’र कैसे होता है, क्या होता हैं इनकी बॉडी के साथ, जानकर रह जाएंगे दं’ग….

हिंदी खबर

जिसकी एक दुआ के लिए तो हम त’रसते हैं, लेकिन कभी यह दुआ नहीं करते कि अपना भी कोई कि’न्नर हो। कि’न्नर, जो आपकी खुशियों को दोगु’ना करना है, लेकिन कभी अपनी खुशियों को द’र्द में कभी किसी को शरी’क नहीं करते। वैसे तो किन्न’रों की दुनिया आम आद’मी से हर मा’यने में अलग होती है। किन्न’रों के बारे में का’फी कम जानकारी ही आम लोगों को मिल पाई है। इनकी दुनिया जितनी ही अलग होती है उतना ही इनके रीति-रि’वाज़ और संस्का’र भी उतने ही अलग होते है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि जब किसी कि’न्नर की मौ’त हो जाती है, तब उसकी डे’ड बॉडी के साथ क्या किया जाता है? उसका अंति’म संस्का’र कैसे किया जाता हैं?

किन्न’रों का अंति’म संस्का’र कैसे होता: सच जानने इतनी हुई या’त्रा

इससे पहले आपके साथ यह रहस्य’मयी सच शेयर किया जाए। आपको बता दें कि बुंदेल’खंड अंचल में किन्न’र समाज का अच्छा खासा परिवार है। यह सच जानने की शुरु’आत हमने दमोह में कम’ला बुआ के घर जाकर की, लेकिन यहां कि’न्नर कमला बुआ ने हमारे सामने हाथ जो’ड़ लिए। उन्होंने इसे निजी जानकारी बताया। इसके बाद टीक’मगढ़ और छतरपुर में भी हमारे संवाददाता यह र’हस्य पता करने के प्रयास करते रहे, लेकिन असफ’लता ही हाथ लगी। अब सागर और बीना से हमें उम्मी’द थी, लेकिन कहते है कि कि’न्नर समाज के नियम और एकता भी अखंड ही है और यहां भी हमारे हाथ कुछ नहीं लग सका। किन्न’र समाज के सभी वरिष्ठ कि’न्नरों द्वारा इसे नियम का उल्लं’घन बताते हुए हमारे कैमरे पर कुछ भी सांझा करने से इंकार कर दिया गया।

लगा’तार एक सप्ताह के प्रयास के बाद हमारे हाथ असफलता ही लगी, लेकिन पाठकों के लिए अब भी हम किसी तरह से जानकारी जु’टाने का प्रयास कर रहे थे। इसी बीच एक कि’न्नर से ट्रेन में मुलाकात होती है। जिससे हमने जब इस संबं’ध में च’र्चा करने का प्रयास किया तो पहले तो वह नाराज हो गया, लेकिन अधिक च’र्चा के बाद उसने हमारे साथ काफी महत्व’पूर्ण जानकारियां सांझा की। जो कि रो’चक और रह’स्य के रो’मांच से भरी हुई हैं। हालांकि, किन्न’र ने भूल से उसकी पहचान न खोलने का वादा भी हमसे लिया।