Categories
धार्मिक

राशिफल 21 जून::सोमवार को बन रहा है ‘शिव’ योग, इन छह राशियों को मिलेगा धन…

धार्मिक खबर

मेष– महत्वपूर्ण कार्यों को तेजी से पूरा करें. समय बेहतर बना हुआ है. लंबित मामलों को गति दे सकते हैं. अनुकूलता बढ़त पर रहेगी. आय अच्छी रहेगी. प्रस्ताव मिलेंगे. नेतृत्व संवरेगा.

वृष– खर्च और निवेश को सतर्कता से आगे बढ़ाने का समय है. जोखिम लेने से बचें. पुराने मामले उभर सकते हैं. संबंधों में सुधार होगा. पेशेवरता पर जोर देंगे. उधार से हरसंभव बचें.

मिथुन– योग्यता के बल पर करियर कारोबार में आगे बढ़ेंगे. आर्थिक मामलों में सकारात्मकता बनी रहेगी. प्रतिस्पर्धा में बेहतर परिणाम संभव हैं. साहस पराक्रम बढ़ा हुआ रहेगा.

कर्क– कामकाज में परिस्थितियों के अनुरूप व्यवहार रखें. पूर्व योजनाओं पर अमल से बचें. लाभ और प्रभाव और दोनों बने रहेंगे. निजी जीवन में व्यस्तता बनी रह सकती है. सुख बढ़ेगा.

सिंह– भाग्य का सहयोग रहेगा. करियर कारोबार में श्रेष्ठ देने में सफल होंगे. साख समन्वय और संपर्क से कार्यक्षेत्र में जगह बनाएंगे. स्मार्ट वर्किंग पर जोर देंगे. रुटीन संवारेंगे.

कन्या– कारोबारी उपलब्धियों को बढ़ावा देने वाला दिन है. आकस्मिक लाभ की संभावना रहेगी. महत्वपूर्ण कार्यों को जल्द पूरा करेंगे. शुभ प्रस्ताव प्राप्त होंगे. सक्रियता दिखाएं.

तुला– साख सम्मान और सफलता को बढ़ावा मिलेगा. निवेश के सकारात्मक परिणाम बनेंगे. भावनात्मकता में कार्य करने से बचेंगे. आर्थिक अवसरों को भुनाने पर जोर दें. बड़ा सोचें.

वृश्चिक– जल्दबाजी से बचें. व्यय बढ़ा हुआ रहेगा. पुराने मामले उभर सकते हैं. करियर कारोबार में वरिष्ठों से बनाकर रखें. निवेश के मामलों को गति देंगे. नियम पालन बनाए रखें.

धनु – करियर कारोबार में उछाल का दिन है. लाभ और विस्तार की योजनाएं फलेंगी. तेजी से कार्य पूरे करने का प्रयास करें. आर्थिक विषय मजबूत रहेंगे. शुभ प्रस्ताव मिलेंगे.

मकर– महत्वपूर्ण कार्यों को तेजी से पूरा करने का प्रयास रखें. करियर कारोबार में क्षमता से आगे बढ़ेंगे. प्रबंधन पक्ष में रहेगा. चर्चाओं में सफल होंगे. उन्नति के अवसर बने हुए हैं.

कुंभ– वाणिज्यिक कार्यों में तेजी दिखाएंगे. भाग्य की प्रबलता से इच्छित सफलता को प्राप्त होंगे. कागजी कार्यों पर फोकस रख सकते हैं. लंबित मामलों में गति आएगी. नेतृत्व क्षमता बढ़ेगी.

मीन– पेशेवरता का लाभ उठाएं. आकस्मिकता बनी रहने की संभावना है. अपरिचितों से दूरी रखें. नीतिगत मामलों में सहज रहें. समय और धन के अपव्यय से बचें. संवेदनशीलता बढ़ाएं.