Categories
News Other

Vikas Dubey Encounter: विकास दुबे के एनकाउंटर की पूरी कहानी, सिर और कमर में लगी……

खबरें

पुलिसकर्मियों का हत्यारा विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया है. पुलिस का कहना है कि उज्जैन से कानपुर लाते समय पुलिस की गाड़ी पलट गई, इस दौरान विकास दुबे ने पुलिसकर्मी का पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की. इसके बाद मुठभेड़ में विकास दुबे को पुलिस ने ढेर कर दिया.

पुलिस ने बताया कि जो गाड़ी पलटी थी, विकास दुबे उसी में सवार था. पुलिस ने कहा कि विकास दुबे ने पुलिस का हथियार छीना था और 2-3 किलोमीटर भागा भी था. इसके बाद पुलिस ने उसे सरेंडर करने के लिए भी कहा, लेकिन उसने सरेंडर नहीं किया. इसके बाद पुलिस ने एनकाउंटर में उसे मार गिराया. 

एक दिन पहले ही विकास दुबे को मध्य प्रदेश की पुलिस ने उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया था. उत्तर प्रदेश पुलिस की STF टीम रात में उसे मध्य प्रदेश से कानपुर ला रही थी. विकास दुबे के लाते समय रास्ते में भारी बारिश हो रही थी. पुलिस का कहना है कि इसकी वजह से गाड़ी फिसल गई थी. यह हादसा कानपुर के पहले भौती के पास हुआ.

पुलिस के अनुसार, इस घटना में 4 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. पुलिस का कहना है कि गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे ने हथियार छीना था तथा भागने की कोशिश की थी. इसके बाद पुलिसकर्मियों ने उसका पीछा किया और सरेंडर करने को कहा था, लेकिन विकास दुबे नहीं

पुलिस के अनुसार, विकास दुबे को लेकर आ रही गाड़ियों में सबसे आगे चल रही एक गाड़ी ने टोल प्लाजा के स्टॉपर पर टक्कर मारी थी. इसके बाद पीछे काफिले में चल रही अन्य गाड़ियों ने अचानक ब्रेक लगाए और पानी बरसने की वजह से स्लीप होने के कारण सभी गाड़ियां असंतुलित होने लगी थीं.

विकास दुबे काफिले में चल रही दूसरे नंबर की गाड़ी में दो पुलिसकर्मियों के साथ बीच की सीट पर बैठाया गया था. जैसे ही गाड़ी पलटी, विकास दुबे ने भागने की कोशिश शुरू कर दी. इस दौरान उसने एक पुलिसकर्मी की पिस्तौल निकाल ली थी. भागने की कोशिश के दौरान पुलिस ने उसका पीछा किया और एनकाउंटर में मार गिराया.