Categories
Other

ट्रेन पर लिखे इन नंबरों का मतलब होता है बहुत गहरा, ये है इनको समझने का आसान तरीका……..

आप सभी ने अपने जीवन में कभी न कभी ट्रे’न से सफ’र जरूर किया होगा। कुछ लोग अपने दफ्त’र जाने के लिए रोज ट्रेन में स’फर करते हैं तो कुछ लोग कभी-कभी हीं ट्रेन में बैठते हैं। जो लोग हमेशा ट्रेन में सफ’र करते हैं उनलोगों ने एक बात जरूर नो’टिस की होगी कि हर ट्रेन पर कुछ नम्बर लिखे होते हैं। कई बार हम किसी ट्रेन को उसके नाम से या नम्बर से भी जानते हैं हालांकि ये अलग बात है कि किसी ने इन नंबरों पर ज्यादा ध्यान नही दिया होगा या उनका मत’लब जानने की को’शिश नही की होगी।

आपको बता दें कि इन नम्बरों के पीछे बहुत बड़ा कार’ण होता है जिसे जानकर आप है’रान रह जाएंगे। ट्रेन के इन नम्बरों के बारे में बहुत कम लोगों को हीं जान’कारी होगी। ट्रेन किस जो’न और डिवि’जन की है, ट्रेन की कैटे’गरी क्या है, ये सारी बातें उस ट्रेन पर लिखे 5 अंकों के नंबर से पता लग सकती हैं। है’रान हो गए न? आइये जानते हैं ट्रेन के नम्बरों का रह’स्य।

1) अगर ट्रेन के नम्बर का पहला अंक जीरो से शुरू होता है तो इसका मतलब वह स्पे’शल ट्रेन है जैसे समर स्पे’शल या पूजा स्पे’शल ट्रेन इत्यादि।

2) अगर ट्रेन का नम्बर 1 या 2 से शुरू होता है तो इसका मतल’ब वो लम्बी दूरी की एक्सप्रेस ट्रेन है।

3) तीन से शुरू होने वाले नम्बर कोलकाता सब अ’र्बन ट्रेन के बारे में बताते हैं।

4) चार से शुरू होने वाले ट्रेन नम्बर नई दिल्ली, चेन्नई, सिकंदराबाद और अन्य मेट्रो शहरों के बारे में बताते हैं।

5) नंबर 5 कन्वें’शनल कोच वाली पैसें’जर ट्रेन को दर्शाता है।

6) अगर किसी ट्रेन का शुरुआती अंक 6 है तो इसका मतलब वो मे’मू ट्रेन है।

7) डीए’मयू ट्रेन के लिए नंबर 7 का प्रयो’ग होता है।

8) नंबर 8 मौजू’दा समय में ट्रेन की आर’क्षित स्थिति के बारे में बताता है।

9) नंबर 9 मुंबई क्षेत्र की सब-अ’र्बन ट्रेनों के लिए प्र’योग किया जाता है।

ट्रेन नंबर के अन्य अंकों का मतलब

ट्रेन नंबर के दूसरे और उसके बाद के अंकों का मतलब उसके पहले अंक के अनुसार ही तय होता है। किसी ट्रेन का पहला अंक 0, 1 और 2 है तो बाकी के चार अंक रेलवे जो’न और डिवी’जन को बताते हैं। जानिए किस जोन का क्या है नंबर।

0 नंबर- कोंकण रेलवे

1 नंबर- सेंट्रल रेलवे, वेस्ट-सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे

2 नंबर- सुपरफास्ट, शताब्दी, जन शताब्दी तो दर्शाता है। इन ट्रेन के अगले डिजिट जोन को’ड को दर्शाते हैं।

3 नंबर- ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट सेंट्रल रेलवे

4 नंबर- नॉर्थ रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे

5 नंबर- नैशनल ईस्टर्न रेलवे, नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे

6 नंबर- सदर्न रेलवे और सदर्न वेस्टर्न रेलवे

7 नंबर- सदर्न सेंट्रल रेलवे और सदर्न वेस्टर्न रेलवे

8 नंबर- सदर्न ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट कोस्टल रेलवे

9 नंबर- वेस्टर्न रेलवे, नार्थ वेस्टर्न रेलवे और वेस्टर्न सेंट्रल रेलवे


यह है ट्रेन नंबर को समझने का तरीका

मान लीजिए गाड़ी का नंबर 12114

1- आपकी ट्रेन लंबी दूरी की है।

2- आपकी ट्रेन सुपरफास्ट है।

1- सेंट्रल रेलवे, वेस्ट-सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे में से कहीं की है।



14 अप गाड़ी का नंबर है। इसी तरह वापसी में इस गाड़ी का नंबर 13 हो जाएगा।