Categories
News

ये 5 सं’केत बताते हैं कि आपका पुन’र्जन्म हुआ है, जानिए आप भी….

पि’तृ पक्ष में अपने पूर्व’जों की शांति के लिए श्रा’द्ध तर्प’ण किए जाते हैं। माना जाता है कि इसके बाद ही पि’तृों को या तो मो’क्ष प्राप्त होता है, या वे नया जन्म लेते हैं। ऐसे में यदि वे कहीं और नया जन्म लेते हैं, तो इस नए जन्म में भी उनका पिछले जन्म से कने’क्शन रहता है। सं’केतों से वह बचपन में अपने पिछले जन्म की कई चीजों के बारे में या तो बताते हैं या उसकी यादों में कई बार कुछ ऐसा कर देते हैं, जो उनके पिछले जन्म से जुड़ी यादों को द’र्शाता है।

यह तक कहा जाता है कि क’ई बार छोटे बच्चे जब पिछले जन्म की बातों को लेकर हं’सते व रोते भी है। यह तक माना जाता है कि क’ई बार तो लोगों को का’फी लंबे समय तक अपने पूर्व जन्म की यादें रह जाती हैं। ऐसे में क’ई बार किसी शहर में पहली बार जाने पर भी वहां की पूरी जानकारी होना या रास्ता क्या है या ये तो पहले देखा हुआ है मह’सूस होना भी पूर्व जन्म से संबं’धित माना जाता है। कुल मिलकर यह जगह जाने पहचाने से स्था’न की तरह होती है।

अब स’वाल यह उठता है कि यह कैसे संभ’व होता है कि हमारे पिछले जन्म के हमें सं’केत मिलते रहते हैं? यह संके’त समझने वाला ही उस पर गौ’र करता है और अभ्या’स से वह वहां पहुंच जाता है जहां वह पिछले जन्म में रहता था। हालां’कि इसके लिए जै’न और हिन्दू धर्म में जाति स्मर’ण का एक प्रयोग बताया जाता है।