Categories
News Other

पु’लिस के हत्यारें : अमर दुवे की पत्नी सिर्फ 10 दिन रही सुहागन, दादी बोली- परिवार बर्बाद……

खबरें

हिस्‍ट्रीशीटर विकास दुबे के साथी और भाई अमर दुबे को पुलिस ने हमीरपुर में एनकाउंटर में मार गिराया है । अमर दुबे पर बिकरू गांव में पुलिस पर गोली चलाने का आरोप था । घटना के बाद से वो फरार था और पुलिस उसकी धरपकड़ में जुटी थी । आज हमीरपुर के मौदहा में यूपी एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में अमर दुबे को मार गिराया गया । कानपुर में हुए एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी, जबकि 7 गंभीर रूप से घायल हैं ।

29 जून को हुई थी शादी
अमर दुबे के बारे में बताया जा रहा है कि अभी कुछ दिनों पहले ही उसकी शादी हुई थी । 29 जून 2020 को ही उसकी बारात निकली थी, वो दुल्‍हन लेकर घर आया था, और शादी के दो दिन बाद ही उसने, 2 जुलाई की रात को बिकरू गांव में उसने विकास दुबे के साथ मिलकर पुलिस टीम पर हमला किया । अमर दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने की खबर मिलने के बाद से परिवार में सन्नाटा पसरा है । उसकी दुल्हन के हाथों की मेहंदी तक नहीं उतरी और मांग का सिंदूर मिट गया ।

दादी का बुरा हाल
पोते की मौत की खबर के बाद से ही उसकी दादी का रो-रो कर बुरा हाल है । अमर दुबे की दादी सर्वेश्वरी दुबे ने मीडिया से बातचीत में बताया कि विकास दुबे ने उनके परिवार को बर्बाद कर दिया । दादी ने कहा कि अमर दुबे और अतुल दुबे उससे अलग ही रहते थे । अभी 29 जून को ही शादी हुई थी । दादी ने कहा कि अमर दुबे और उसका भाई अतुल दुबे उनको ज्‍यादा कुछ नहीं बताते थे, लेकिन जवान पोते के जाने का गम तो है ही ।

अमर दुबे पर था 25 हजार का ईनाम
अमर दुबे पर, 8 पुलिसवालों हत्‍या के मामले में 25 हजार का इनाम घोषित किया हुआ था । अमर दुबे के बारे में बताय जाता है कि कि वह विकास दुबे का दाहिना हाथ था और 2 जुलाई की रात हुई गोलीबारी में वह शामिल था । बुधवार सुबह साढ़े 6 बजे यूपी एसटीएफ ने अमर दुबे को एनकाउंटर में मार गिराया ।

अमर मौदहा में अपने करीबी रिश्तेदार के घर छिपने जा रहा था । पुलिस को उसकी लोकेशन का पता भी चल गया था, इससे पहले वो फरीदाबाद में छिपा, लेकिन यूपी एसटीएफ के दबाव में वहां से भागकर मौदहा पहुंचा था । लेकिन पुलिस को उसके मूवमेंट की जानकारी मिल गई थी, उसे मदौहा में दबोच लिया गया और फायरिंग में उसकी मौत हो गई ।