Categories
News

एयर होस्टेस के ये कारना’मे आपके हो’श उ’ड़ा देगें, देखिए…

हिंदी खबर

स’पना एयर हो’स्टेस बनना है म’गर नहीं पता कि एयर हो’स्टेस कैसे और क्या करके बन सकते हैं तो यहां जानिए पू’री डिटेल. फ्ला’इट अटेंडें’ट को एयर होस्टे’स / केबिन क्रू / स्टीव’र्ड के रूप में भी जाना जाता है. एयर होस्टे’स का काम राष्ट्री’य और अंतर’राष्ट्रीय उड़ा’नों में यात्रियों की सु’रक्षा और आ’राम सुनि’श्चित करना होता है.
एयर होस्टे’स को राष्ट्रीय, अं’तर्राष्ट्रीय, वा’णिज्यिक, चार्ट’र्ड और कुछ सै’न्य विमा’नों में नि’युक्त किया जा सकता है. एयर होस्टे’स की नौकरी में मुख्य रूप से सुर’क्षा के साथ स’मन्वय करना शामि’ल होता है. साथ ही हर या’त्री के लिए ह’वाई यात्रा को आराम’दायक बनाना है.

एयर होस्टे’स के पास वि’मान में कई जिम्मेदा’रियां होती हैं. वह प्रत्ये’क या’त्री को ब’धाई देता/देती है, प्रत्येक को सी’ट पर गा’इड करता है , उन्हें व्यव’स्थित करता है, सुर’क्षा का स’मन्वय करता है.
एयर होस्टे’स बनने के लिए न्यून’तम योग्य’ता

-उम्मीदवारों 45-50% न्यून’तम मा’र्क्स के साथ कक्षा 12वीं उत्ती’र्ण हो.
-न्यून’तम पास प्रतिशत अलग-अलग संस्था’न में भि’न्न होता है.
-इच्छु’क उम्मी’दवार जो 17-26 वर्ष की आयु के बी’च हैं, आ’वेदन कर सकते हैं.
-उम्मी’दवार द्वा’रा बोली जाने वाली अं’ग्रेजी भाषा में फ्लो होना चाहिए.
-उम्मीद’वार की ऊंचाई कम से कम 157.5 सें’टीमीटर हो. व’जन ऊंचाई के अ’नुपात में हो.
-उनके पास भारतीय पास’पोर्ट हो.
एयर होस्टे’स की जिम्मेदा’रियां
-उड़ा’न पूर्व और बाद की जां’च का सं’चालन करना.
-या’त्रियों को आने-जाने में सहा’यता करना.
-या’त्री की सु’विधा और सुरक्षा के साथ उन्हें उड़ा’न निय’मों के बारे में जान’कारी देना.
-सु’रक्षा उपक’रण, वि’मान की सफाई, सीट की बे’ल्ट की जाँ’च करना.