Categories
धार्मिक

देवी देवताओं पर चढ़ाए जाने वाले फूल कर सकते हैं आपको बर्बाद कभी ना चढ़ाएं सफेद पीले रंग..

धार्मिक

हिंदू धर्म में मांगलिक और धार्मिक अनुष्ठान में देवी-देवताओं को प्रसन्न करना है तो इसके लिए पूजा सामग्री में फूल का होना बहुत ही आवश्यक है और विभिन्न फूलों का अपना एक विशेष महत्व है। देवी-देवताओं की पूजा अर्चना के दौरान फूल का इस्तेमाल किया जाता है। वैसे तो किसी भी भगवान को कोई भी फूल चढ़ाया जा सकता है, लेकिन कुछ फूल देवताओं को विशेष प्रिय होते हैं। इन फूलों का वर्णन विभिन्न धर्म ग्रंथों में मिलता है। देवताओं को उनकी पसंद के फूल चढ़ाने से वे प्रसन्न होते हैं और साधक की हर मनोकामना पूरी कर सकते हैं। आइए जानते हैं भगवान को चढ़ाने वाले फूल के बारे में जो बहुत ही प्रिय और उपयोगी होते हैं। शास्त्रों में देवी-देवताओं को फूल चढ़ाने के बारे में कुछ इस तरह वर्णन किया गया है।

भगवान श्री गणेश
विघ्नहर्ता गणेश जी की अगर सच्चे मन से पूजा की जाए तो यह व्यक्ति से बहुत जल्द प्रसन्न हो जाते हैं। अगर आप गणेश जी की पूजा के दौरान दूर्वा घास अर्पित करते हैं तो इससे गणेश जी सबसे जल्द प्रसन्न होते हैं क्योंकि यह उनको बहुत प्रिय है। इसके अलावा आप भगवान गणेश जी को लाल रंग के फूल भी अर्पित कर सकते हैं परंतु आप इस बात का ध्यान रखें कि भगवान गणेश जी को तुलसी दल अर्पित ना करें।

भगवान शिव
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान शिव जी सबसे शीघ्र प्रसन्न होने वाले देवता माने जाते हैं। भगवान शंकर को धतूरे के फूल, हरसिंगार, व नागकेसर के सफेद पुष्प, सूखे कमल गट्टे, कनेर, कुसुम, आक, कुश आदि के फूल चढ़ाने का विधान है। भगवान शिव को केवड़े का पुष्प नहीं चढ़ाया जाता है।

भगवान विष्णु
भगवान विष्णु जी जगत के पालनहार माने जाते हैं। अगर इनकी कृपा किसी व्यक्ति पर हो तो उस व्यक्ति के जीवन की सारी परेशानियां दूर हो जाती हैं। इन्हें कमल, मौलसिरी, जूही, कदम्ब, केवड़ा, चमेली, अशोक, मालती, वासंती, चंपा, वैजयंती के पुष्प विशेष प्रिय हैं। विष्णु भगवान तुलसी दल चढ़ाने से अति शीघ्र प्रसन्न होते है। कार्तिक मास में भगवान नारायण केतकी के फूलों से पूजा करने से विशेष रूप से प्रसन्न होते है ।