Categories
News

प.बंगाल के बाद इस प्रदेश में हुआ बीजेपी के साथ बड़ा धोखा, एक साथ 15 नेताओं ने दिया…….

खबरें

केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप में भारतीय जनता पार्टी के 15 नेताओं ने पार्टी से एक साथ इस्तीफा दे दिया है। प्रदेश में पिछले काफी समय से सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। इसके पीछे का कारण प्रदेश के प्रशासक प्रफुल पटेल द्वारा किए गए बदलावों को बताया जा रहा है। वहीं फिल्म निर्माता आ’यशा सुल्ताना के खि’ला’फ भी ल’क्षद्वीप पु’लिस ने देशद्रो’ह का मा’मला द’र्ज किया। हालांकि, यह मा’मला भाजपा की लक्षद्वीप ईकाई अक्ष्यक्ष अ’ब्दुल खा’दर ने द’र्ज करवाया गया, मगर अब इस मुकदमे को लेकर भा’जपा पार्टी के ही नेताओं ने वि’रो’ध करते हुए इ’स्तीफा दिया है। बता दें कि इस्तीफा सौंपने वालों में भाजपा के राज्य सचिव अ’ब्दुल ह’मीद मु’ल्ली’पु’झा भी शामिल है।

दरअसल, सुल्ताना पर आ’रोप है कि उन्होंने एक मलयालम चैनल में बहस के दौरान केंद्र शासित प्रदेश में कोरोना के प्रसार के बारे में झूठी खबर का फैलाई। उन्होंने एक टीवी डिबेट के दौरान कहा था कि केंद्र सरकार ने लक्षद्वीप में कोरोना के प्रसार के लिए ‘जैविक हथियारों’ का इस्तेमाल किया। कवरती पु’लि’स ने फिल्म निर्माता के विरुद्ध भारतीय दं’ड संहि’ता की धा’रा 124 ए और 153 बी के तहत मा’म’ला दर्ज किया गया है। इस का’र्रवा’ई को लेकर अब पार्टी के ही लोग नाराज हो गए हैं।

लक्षद्वीप में लगभग 15 नेताओं ने प्रदेश अध्यक्ष को अपने त्याग पत्र में कहा कि उनका इस्तीफा आ’यशा सु’ल्ताना पर मा’मले द’र्ज करवाने को लेकर है, जिन्होंने एक चैनल चर्चा के दौरान कहा था कि कैसे लक्षद्वीप शून्य कोविड मा’मलों से वर्तमान प्रशासक के आ’ग’मन के साथ बड़े पैमाने पर कोविड मा’म’लों में बढ़ोतरी हो गई।उन्होंने प्र’शा’सक के फैसलों को ‘अवैज्ञानिक और गैर जिम्मेदाराना’ भी बताया। उन्होंने आगे कहा कि जब लक्षद्वीप में आपने और भाजपा के कार्यकर्ता और लोग अलोकतांत्रिक कार्यों का वि’रो’ध कर रहे हैं, तो आपने चेतलाट निवासी हमारी बहन के वि’रुद्ध झूठी और अनुचित शि’का’यत द’र्ज की है और उनेके परिवार और उसके भविष्य को ब’र्बा’द करने का काम किया। हम अपनी कठोर आ’पत्ति व्यक्त करते हैं और भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से अपना इ’स्ती’फा सौंपते हैं।

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से लक्षद्वीप के प्रशासक प्रफुल खोड़ा पटेल के वि’रुद्ध उनके द्वारा पेश किए गए नए सुधारों को लेकर हं’गा’मा हो रहा है, जो कहा जा रहा कि द्वीपवासियों के हितों के विरुद्ध हैं। लोग लक्षद्वीप एंटी-सोशल एक्टिविटीज रेगुलेशन , लक्षद्वीप एनिमल प्रिजर्वेशन रेगुलेशन और लक्षद्वीप पंचायत रेगुलेशन, 2021 जैसे अन्य मसौदे का’नू’नों का भारी वि’रो’ध कर रहे हैं।