Categories
News

दिल्ली में BJP की ताबड़तोड़ बैठकों के बीच आई असली खबर, ये है तैयारी, PM मोदी ने खुद…..

खबरें

केंद्रीय कैबिनेट में बदलाव की अटकलें हैं। इसे लेकर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक की। मई 2019 में दूसरी बार सरकार बनने के बाद मोदी ने इसमें कोई फेरबदल नहीं किया है। वहीं, उत्‍तर प्रदेश में भी कैबिनेट में फेरबदल की संभावना बढ़ गई है। राजधानी में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के दो दिवसीय दौरे के बाद इसे हवा मिली है। इस दौरान सीएम ने भाजपा के शीर्ष नेतृत्‍व से मुलाकात की। योगी आदित्‍यनाथ शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से मिले। गुरुवार को वह गृह मंत्री अमित शाह से मिले थे।

हालांकि, समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि पीएम मोदी छोटे-छोटे ग्रुप्स में मंत्रियों से मुलाकात कर रहें हैं। पिछले दो साल में उन्‍होंने जो काम किया है, उसका जायजा लिया जा रहा है।

प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास 7, लोक कल्‍याण मार्ग पर अब तक ऐसी तीन बैठकें हो चुकी हैं। इनमें भाजपा के अध्‍यक्ष जेपी नड्डा शामिल रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, इस तरह की सभी बैठकें करीब पांच घंटे से ज्‍यादा समय तक चली हैं। कोरोना की दूसरी लहर के बाद इन बैठकों को बुलाया गया है। कई मंत्रियों ने प्रजेंटेशन भी दिए हैं।

अहम है बैठक की टाइमिंग
शुक्रवार को शीर्ष भाजपा नेताओं की बैठक प्रधानमंत्री आवास पर हुई। यह ऐसे समय हुई है जब एक दिन पहले गृह मंत्री ने अपना दल की अनुप्रिया पटेल सहित उत्‍तर प्रदेश में पार्टी के सहयोगी दलों के साथ बैठक की थी। पटेल पहली मोदी सरकार में मंत्री थीं। लेकिन, बाद में उन्‍हें जगह नहीं मिली। इन बैठकों पर फिलहाल कोई औपचारिक बयान नहीं आया है।

यूपी में हलचल बढ़ी
अगले साल चुनाव से पहले यूपी में कैबिनेट विस्तार या फेरबदल की संभावना है। विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी को मजबूत करने के लिए राज्य भाजपा इकाई में बदलाव भी बैठक के एजेंडे का हिस्सा हो सकता है।

हाल में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बी. एल. संतोष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की तैयारियों की समीक्षा के लिए लखनऊ का दौरा किया था।

संतोष ने राज्य के मंत्रियों और विधायकों से फीडबैक लिया था। इससे पार्टी के उत्तर प्रदेश में संभावित बदलाव की अटकलों को हवा मिली थी। खबरें हैं कि केंद्रीय नेतृत्व की ओर से जुटाए गए फीडबैक के आधार पर उत्तर प्रदेश सरकार के साथ-साथ पार्टी की राज्य इकाई में भी फेरबदल करने का फैसला किया गया है।

खबरें हैं क‍ि पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद की भूमिका पर भी केंद्रीय भाजपा नेतृत्व में चर्चा हुई हो। जितिन ने बुधवार को कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया था। उत्तर प्रदेश में एक प्रसिद्ध ब्राह्मण चेहरा प्रसाद के पिता जितेंद्र प्रसाद उत्तर प्रदेश में एक प्रमुख ब्राह्मण नेता के तौर पर जाने जाते हैं।