Categories
धार्मिक

मनीप्लांट लगाने से आती है समृद्धि तो जानें इसके वो भयंकर नुकसान जो तबाह कर सकते हैं आपको…

धार्मिक


मनी प्लांट के नाम से भी साफ होता है कि कहीं न कही इसका संबंध वास्तु शास्त्र है। यही कारण है कि लोग इसे अपने घर में रखते है। ताकि जीवन में धन से जुड़ी तमाम परेशानियां खत्म हो। परंतु आपको बता दें अगर आप भी अपने घर में मनी प्लांट रखने की सोच रहे हैं या पहले से आपके घर में मनी प्लांट है मगर वो आपको लाभ नहीं दे रहा है। तो आपके लिए ये जानना बेहद जरूरी है कि क्या मनी प्लांट घर में सही जगह है या नहीं।

प्रचलित मान्यताओं के अनुसार इसे घर में रखने से वहां रहने वाले लोगों के जीवन में सुख-समृद्धि बढ़ती है। इसलिए इसका सही दिशा व दशा में होना अनिवार्य माना जाता है। दरअसल वास्तु शास्त्र में इसे घर में रखने से जुड़े कुछ खास नियम बताए हैं, जिनका पालन करना बेहद आवश्यक माना जाता है। तो चलिए आपको बताते हैं क्या हैं वो नियम-

मनी प्लांट के पौधे को घर में लगाने के लिए सबसे दिशा आग्नेय मानी गई है। कहा जाता है इस दिशा में यह पौधा लगाने से घर के लोगों के जीवन में सकारात्मक ऊर्जा आती है।

वास्तु विशेषज्ञों के अनुसार मनी प्लांट को आग्नेय यानी दक्षिण-पूर्व दिशा में लगाने का सबसे महत्वपूर्ण कारण इस दिशा के देवता गणेश जी माने जाते हैं, इसके अलावा इस दिशा के प्रतिनि‍धि शुक्र देवता हैं।

शास्त्रों के अनुसार गणेश जी अमंगल का नाश करने वाले हैं तो शुक्र देव सुख-समृद्धि को लाने वाले कहलाते हैं। इतना ही नहीं बेल और लता का कारक शुक्र ग्रह को माना गया है। इसी लिए मनी प्लांट को आग्नेय दिशा में लगाना सबसे उचित माना गया है।

इसके अलावा इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि मनी प्लांट को कभी भी ईशान यानी उत्तर-पूर्व दिशा में न लगाएं। वास्तु शास्त्र में इस संदर्भ में इस दिशा को सबसे नकारात्मक माना गया है।


ज्योतिष शास्त्र के अनुसाार ईशान दिशा का प्रतिनिधि देवगुरु बृहस्पति माना गया है और शुक्र तथा बृहस्पति में शत्रुवत संबंध होता है। इसलिए शुक्र से संबंधित यह पौधा ईशान दिशा में होने पर नुकसान होता है। बता दें इस दिशा में तुलसी का पौधा लगाना शुभ माना जाता है।

इस बात का भी खास ख्याल रखना चाहिए कि मनी प्लांट की पत्तियां जमीन से छूती नहीं होनी चाहिए। कहा जाता है इससे जीवन की सुख-समृद्धि में रुकावट आती है और तथा सफलता असफलता में बदल जाती है। साथ ही ध्यान रखें कि इसकी पत्तियां सूखें भी नहीं।