Categories
धर्म

आक्रामक, मूडी और अहंकारी- ये 4 राशियां हर लड़ाई जीतने की संभावना रखती हैं……..

धार्मिक खबर

कुछ लोगों के हाथों में लड़ाई की लकीर नहीं होती. वो दूसरे लोगों के साथ बहस करना पसंद नहीं करते हैं और जब भी संभव हो टकराव से बचने की पूरी कोशिश करते हैं.

किस्मत वालों को ही मिलती हैं इन तीन राशियों की लड़कियां

कुछ लोगों के हाथों में लड़ाई की लकीर नहीं होती. वो दूसरे लोगों के साथ बहस करना पसंद नहीं करते हैं और जब भी संभव हो टकराव से बचने की पूरी कोशिश करते हैं. वो कमजोर नहीं हैं, लेकिन वो लड़ाई के साथ आने वाली अप्रियता को पसंद नहीं करते हैं. वहीं, दूसरी ओर कुछ लोगों को लड़ना पसंद होता है.

वो कभी भी किसी के साथ बहस करने या ये साबित करने का मौका नहीं छोड़ते कि उनका दृष्टिकोण सही क्यों है. वो तर्कशील और आक्रामक होते हैं और हर लड़ाई या तर्क को जीतने के लिए बाध्य होते हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, ये हैं वो 4 राशियां जो लगभग हर लड़ाई में जीत सकती हैं.

मेष राशि

मेष पहली राशि है और इस तरह, वो शीर्ष पर रहना पसंद करते हैं. वो साबित करना चाहते हैं कि वो सर्वश्रेष्ठ हैं और ऐसा करने के लिए वो किसी भी हद तक जाएंगे. वो हमेशा तर्कों और बयानों से लैस होते हैं जो उन्हें अपनी बात रखने और हर संभव तर्क को जीतने में मदद करते हैं.

मिथुन राशि

क्यूंकि मिथुन राशि वाले लोग बेहद सामाजिक और बाहर जाने वाले होते हैं, इसलिए वो बहुत सारी चीजों का निरीक्षण करते हैं. यही कारण है कि उन्हें लगता है कि वो सब कुछ जानते हैं और हर संभव विषय पर अंतिम शब्द उन्हीं का है. जब एक लड़ाई में, वो जीतने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ते हैं और वो शब्दों के साथ खेलते हैं किसी तरह दूसरे व्यक्ति को ये समझाने के लिए कि वो सही हैं.

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि वाले लोग अपने हर काम के प्रति जुनूनी होने के लिए जाने जाते हैं. जब वो लड़ते हैं, तो वो अपनी सारी ऊर्जा इसे जीतने में लगाते हैं और पूरी तरह से समर्पित हो जाते हैं. वो आपके हर तर्क का पूरे विश्वास के साथ जवाब देंगे और अपने जोश से लड़ाई जीतेंगे.

कुंभ राशि

कुंभ राशि के जातक, जब बहस के दौरान अपने विरोधियों के विचारों और ओपिनियन को सुनने की बात आती है तो वो वास्तव में खुले दिमाग नहीं रखते हैं. वो बस अपनी बात रखते हैं और इस बात की परवाह नहीं करते कि आपको क्या कहना है. इस तरह, वो आपको विश्वास दिलाते हैं कि आपने लड़ाई जीत ली है क्योंकि जब आप अपनी बात आगे रखते हैं तो वो बस धुन देते हैं.