Categories
धर्म

तुलसी माला पहनने से पहले जान लें ये नियम, नहीं तो उठाएंगे भारी नुकसान..

धर्म

हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे को बेहद ही पवित्र माना जाता है और इसकी पूजा भी की जाती है। कहते हैं कि भगवान विष्णु को तुलसी बेहद ही प्रिय है। उनके प्रसाद में अगर तुलसी ना हो तो उनकी पूजा अधूरी मानी जाती है।

लेकिन आज हम आपको तुलसी माला के बारे में बताने जा रहे हैं। आपने बहुत से लोगो को तुलसी माला धारण किए देखा होगा। लेकिन तुलसी माला धारण करना इतना आसान नहीं है। इस से जुड़े कुछ नियम होते हैं जिनके बारे में आपको जान लेना जरुरी है।

तुलसी माला पहनने के नियम

  1. तुलसी माला धारण करने से पूर्व इसे गंगाजल से धोना चाहिए और जब ये सूख जाए तब इसे धारण करना चाहिए।
  2. इस माला को धारण करने वाले लोग रोजाना जाप करना होता हैं।
  3. तुलसी माला पहनने वाले व्यक्ति को सात्विक भोजन करना चाहिए। ऐसा व्यक्ति अपने भोजन में माँसाहारी भोजन का त्याग करने के साथ लहसुन, प्याज, का सेवन भी नहीं कर सकता है।
  4. किसी भी स्थिति परिस्थिति में तुलसी की माला को शरीर से अलग नहीं करना चाहिए।


भगवान विष्णु और कृष्ण के भटक तुलसी माला धारण करने हैं और कहा जाता है कि इसे धारण करने से मन शांत रहता और आत्म पवित्र होती है। कहते हैं कि इस माला को पहनने से रोगों से छुटकारा मिलता है। इसके अलावा इस माला को धारण करने से बुध और गुरू ग्रह मजबूत होते हैं।

कैसे करें पहचान
सही तुलसी माला की पहचान करने के लिए करीब आधे घंटे तक माला को पानी में रख दें। अगर वो रंग छोड़ने लगें तो समझ लेना कि वह नकली माला है।