Categories
धार्मिक

मंगलसूत्र की ये गलती कर देती है बर्बाद,मर जाता है पति..

धार्मिक

दोस्तों वैसे तो शादीशुदा महिलाएं सुहाग की निशानी के रूप में सिन्दूर, बिछिया, अंगूठी इत्यादि चीजें भी धारण करती हैं. लेकिन इन सभी चीजों में मंगलसूत्र का महत्व सबसे अधिक होता हैं. ऐसा कहा जाता हैं कि पत्नी के गले में पहना गया मंगलसूत्र उसके सुहाग की निशानी होता हैं. इसे पहनने से पति की आयु बढ़ती हैं. इसलिए शादीशुदा महिला को इसे हमेशा धारण किए रहना चाहिए.

लेकिन कई बार महिलाएं मंगलसूत्र धारण करते वक़्त जाने अनजाने में कुछ गलतियां कर बैठती हैं. इन गलतियों की कीमत आपके पति को भोगनी पड़ सकती हैं. ऐसे में गले में मंगलसूत्र पहनते वक़्त आपको कुछ विशेष सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए और भूलकर भी नीचे दी गई 6 गलतियाँ नहीं करनी चाहिए.

मंगलसूत्र पहनते समय ना करे ये गलतियाँ

  1. आप ने अक्सर देखा होगा कि महिलाओं को एक दुसरे की चीज मांग कर पहनना अच्छा लगता हैं. उदाहरण के तौर पर यदि उन्हें किसी के गले में पहना गहना पसंद आ जाता हैं तो वो उसे पहनने के लिए उधार मांग लेती हैं. लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे कि शादीशुदा महिलाओं को कभी भी किसी और का मंगलसूत्र मांग कर नहीं पहनना चाहिए. ऐसा करने से पति की आयु कम होती हैं. इसलिए ऐसा करने से हमेशा बचे.
  2. यदि आप ने नोटिस किया हो तो हर मंगलसूत्र का निर्माण काले मोती और सोने से किया जाता हैं. लेकिन क्या आप ने कभी सोचा हैं कि मंगलसूत्र में ये काले मोती आखिर क्यों लगाए जाते हैं? दरअसल काला रंग हमें लोगो की बुरी नज़र से बचाता हैं. इससे किसी के सुखी दाम्पत्य जीवन को लोगो की नज़र नहीं लगती हैं. इसलिए आपको कभी भी ऐसा मंगलसूत्र नहीं पहनना चाहिए जिसमे काले मोती ना लगे हो.
  3. मंगलसूत्र को कभी भी उतारना नहीं चाहिए. ऐसा करना हिन्दू धर्म में वर्जित माना जाता हैं. पति जब पत्नी के गले में मंगलसूत्र डालता हैं तो तब से लेकर उसकी अंतिम सांसों तक उसे गले में मंगलसूत्र धारण किए रहना हैं. इसे सिर्फ उन्ही परिथिति में उतारा जाता हैं जब कोई अनहोनी हुई हो. यदि फिर भी किसी कारण से आपको गले का मंगलसूत्र उतारना पढ़ जाए तो आप उसकी जगह गले में एक काला धागा धारण कर ले.
  4. वैसे तो बाजार में कई प्रकार के मंगलसूत्र मिलते हैं. लेकिन पारंपरिक रूप से कप आकृति वाला यानी गोल पेंडल वाला मंगलसूत्र शुभ माना जाता हैं. इसे शिवजी का प्रतिक भी माना जाता हैं. ऐसे में इसे गले में धारण करने का लाभ अधिक होता हैं. इसलिए जहाँ तक हो सके इस डिजाइन वाला मंगलसूत्र पहने.
  5. हर मंगलसूत्र में कम से कम एक सोने का मोती या पेंडल अवश्य होना चाहिए. ज्योतिष शास्त्र की माने तो सोना गुरु गृह के प्रभावों को कम करता हैं. इससे घर में सुख शान्ति और समृद्धि आती हैं. सोना धारण करने से शरीर में सकारत्मक उर्जा का संचार होता हैं. यही कारण हैं कि आप बिना सोने वाला मंगलसूत्र नहीं पहनना चाहिए.
  6. यदि किसी महिला का मंगलसूत्र अचानक गले से टूट के गिर जाता हैं तो उसे अपशगुन माना जाता हैं. ऐसे में पति के स्वास्थ को हानि या रिश्तो में दरार हो सकती हैं. इसलिए गले में कभी भी कमजोर मंगलसूत्र ना धारण करे.