Categories
धर्म

रसोई की इन छोटी-छोटी चीजों से भी बचा सकते हैं, ग्रहों के अशुभ फल………..

धार्मिक खबर

उज्जैन. ज्योतिष शास्त्र में 9 ग्रह बताए गए हैं। जब ये ग्रह कमजोर होते हैं या फिर एक-दूसरे के साथ मिलकर कोई अशुभ योग बनाते हैं तो उसका सीधा प्रभाव व्यक्ति के जीवन पर पड़ता है। ग्रहों के अशुभ प्रभाव से मुक्ति पाने के लिए कई तरह के उपाय करते हैं। हमारे किचन में ही कई ऐसी चीजें होती हैं, जिनका उपयोग कर हम ग्रहों के अशुभ फल से बच सकते हैं। आगे जानिए कौन-सी हैं वो चीजें…

1. सूर्य को ग्रहों का राजा माना गया है। कुंडली में सूर्य को मजबूत बनाने के लिए शुद्ध घी, केसर, गेहूं से आदि चीजों को प्रयोग और दान करना चाहिए।

2. चंद्रमा को मजबूत बनाने के लिए केवल जल ही काफी होता है। इसके लिए चंद्रमा को जल देना चाहिए। रसीले फल, शर्बत, चावल आदि का उपयोग चंद्रमा को बल देता है।

3. मंगल को अनुकूल बनाने के लिए आटे का मोट रोट हनुमान जी को चढ़ाना चाहिए। इसके साथ ही लाल फल सब्जियों आदि के प्रयोग से भी मंगल बलवान होता है।

4. बुध ग्रह से अनुकूल फल पाने के लिए धनिया, सौंफ, मूंगदाल, हरी सब्जी का भोजन में करना चाहिए। इन चीजों का दान भी कर सकते हैं।

5. यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में गुरू ग्रह अशुभ फल प्रदान कर रहे हो तो उसे हल्दी, केसर और केले आदि पीली चीजों का दान करना चाहिए।

6. शुक्र को मजबूत करने के लिए चावल और दूध आदि का दान किया जा सकता है। इसके अलावा मखाने और चावल से खीर बनाकर उसका सेवन किया जा सकता है।

7. यदि किसी की कुंडली में शनि अशुभ हो तो सरसों का तेल, कलौंजी, काले तिल का प्रयोग और दान करना शुभकारी रहता है।

8. राहु-केतु के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए सिरका, रासायनिक पदार्थ, नमक इत्यादि का प्रयोग किया जा सकता है। जल में जौ प्रवाहित करने से भी राहु के कोप से राहत मिलती है।