Categories
धर्म

शुक्र कर रहा है अपनी राशि वृषभ में प्रवेश, देखिए किन राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा………

धार्मिक खबर

ग्रह शुक्र मेष राशि की यात्रा समाप्त करके 4 मई को दोपहर 1 बजकर 23 मिनट पर अपनी स्वयं की राशि वृषभ में प्रवेश कर रहे हैं। इस राशि पर ये 28 मई की रात्रि 11 बजकर 57 मिनट तक गोचर करेंगे उसके बाद मिथुन राशि में प्रवेश कर जाएंगे। इनके राशि परिवर्तन का सभी राशियों पर कैसा प्रभाव पड़ेगा इसका ज्योतिषीय विश्लेषण करते हैं।

मेष राशि
राशि से द्वितीय धन भाव में गोचर करते हुए शुक्र के शुभ प्रभाव के परिणामस्वरुप आपका आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। आकस्मिक धन प्राप्ति के योग भी बनेंगे और काफी दिनों का दिया गया धन भी वापस मिलने की उम्मीद। जमीन जायदाद से जुड़े मामले संपन्न होंगे। पैतृक संपत्ति के लाभ के भी योग। भाषा शैली मधुर तथा व्यवहार उत्तम कोटि का रहेगा। पारिवारिक जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन करेंगे। स्वास्थ्य विशेष करके दाईं आंख की बीमारी से बचें। 

वृषभ राशि
अपनी स्वयं की राशि में गोचर करते हुए शुक्र का प्रभाव आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है इसलिए कोई भी बड़े से बड़ा कार्य-व्यापार आरंभ करना चाह रहे हों अथवा नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो समय अनुकूल रहेगा। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में प्रतिक्षित कार्य संपन्न होंगे। सरकारी टेंडर भी हासिल करना चाह रहे हों तो अवसर अनुकूल रहेगा। विदेशी कंपनियों में सर्विस अथवा नागरिकता के लिए किया गया प्रयास सफल रहने के योग।

मिथुन राशि
राशि से बारहवें हानि भाव में गोचर करते हुए शुक्र आपके लिए अच्छे फल ही प्रदान करेंगे क्योंकि अकेले ये ही ऐसे ग्रह हैं जो जन्मकुंडली के इस भाव में बैठे या गोचर करते हुए उत्तम फल देते हैं। घूमने फिरने एवं विलासिता पूर्ण वस्तुओं के क्रय करने पर अधिक खर्च होगा। विदेश यात्रा एवं विदेशी नागरिकता के लिए किया गया प्रयास रहेगा। बारहवें भाव में शुक्र आय और व्यय दोनों बराबर करायेंगे। स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहें। परिवार के सदस्यों संबंध बिगड़ने न दें।

कर्क राशि
राशि से लाभ भाव में गोचर करते हुए शुक्र हर तरह से अच्छे फल ही प्रदान करेंगे। आय के साधन बढ़ेगें। बड़े भाइयों से सहयोग की उम्मीद। विद्यार्थियों एवं प्रतियोगिता में बैठने वाले छात्रों के लिए समय और अनुकूल रहेगा। कार्य-व्यापार में भी उन्नति होगी इसलिए निर्णय लेने में विलंब न करें। अपनी योजनाओं को अंतिम रूप दें। विवाह से संबंधित वार्ता सफल रहेगी। संतान संबंधी चिंता दूर होगी। नवदंपत्ति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग।

कन्या राशि
राशि से नवम भाग्यभाव में गोचर करते हुए शुक्र भाग्योन्नति तो कराएंगे ही धर्म एवं अध्यात्म के प्रति भी रुचि बढ़ेगी। धार्मिक ट्रस्टों एवं अनाथालय आदि में दान पुण्य भी करेंगे। आपके द्वारा लिए गए निर्णय और किए गए कार्यों की सराहना होगी। परिवार में मांगलिक कार्यों का सुअवसर आएगा। शादी-विवाह से संबंधित वार्ता भी सफल रहेगी। विदेशी कंपनियों में नौकरी अथवा विदेशी नागरिकता के लिए भी आवेदन करना चाह रहे हों तो अवसर अनुकूल रहेगा।