Categories
धर्म

मेष राशि वाले ज़िद्दी होने के साथ साथ होते हैं उत्साही जानिए किस तरह अलग होते हैं ये बाकी राशियों से..

धार्मिक ख़बर

राशिफल हमारे जीवन का अद्भुत लेखा जोखा है। ज्योतिष शास्त्र में 12 राशियों का वर्णन किया गया और प्रत्येक राशि का अपना अलग महत्व है। राशि के अनुसार आप व्यक्ति के जीवन और उसके चरित्र के बारे में जान सकते हैं। ज्योतिष शास्त्र में प्रत्येक राशि का किसी ग्रह से रिश्ता है। वॉइस में अग्नि तत्व राशियों का वर्णन किया गया है।

अग्नि तत्व राशि में मेष राशि सिंह राशि और धनु राशि आते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अग्नि तत्व राशियों में ऊर्जा उत्साह भरपूर होता है और इन राज्यों के लिए सूर्य का सबसे ऊंचा स्थान होता है। इन राशियों में जहां साहस और नेतृत्व होते हैं वहीं इनमें क्रोध भी पराकाष्ठा के अंत तक होता है। बात अगर मेष राशि की करें तो इस राशि के जातक में राजश्री अद्भुत होता है मेड़ता तो देखने को मिलती ही है साथ में मिलनसार भी होते हैं।

पहले जानते हैं आज मेष राशि के जातकों के बारे में –

जोखिम का सामना करने वाले

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक मेष राशि के जातक में जोखिम उठाने की कला होती है। यह जितने उत्सुक होते हैं किसी बात को जानने के लिए उतने ही उत्साही और ऊर्जावान भी होते हैं। मेष राशि के जातक किसी भी नए काम की शुरुआत करने से हिचकते नहीं है और ना ही डरते हैं। कुल मिलाकर अगर कहा जाए तो मेष राशि के जातक विपरीत परिस्थितियों का डटकर साहस के साथ मुकाबला करते हैं और कभी भी जोखिम उठाने से डरते नहीं है।

बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं मेष राशि के जातक
ज्योतिष विद्या के मुताबिक मेष राशि के जातक बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं इनमें सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है यह कभी भी किसी मरते व्यक्ति को जिंदा करने की क्वालिटी रखते हैं। मेष राशि के जातक ऊर्जावान होते हैं इनके संपर्क में आने वाला कोई भी नकारात्मक व्यक्ति भी सकारात्मकता की ओर अग्रसर हो जाता है। इनके अंदर अद्भुत कला का वास होता है इनके सापेक्ष आने वाले व्यक्ति खुश रहते हैं। यह किसी भी कार्य को करने से कभी पीछे नहीं हटते बताओ और उसका सामना करते हैं और करके दिखाती है।

हठी होना

हालांकि मेष राशि के जातक में हठ देखा जाता है। यह थोड़ी जिद्दी होती हैं किसी भी कार्य को ठान ले तो उसे किसी भी तरह पूरा करने की क्वालिटी रखते हैं।

अहम होना

मेष राशि के जातकों में एरोगेंट भी देखने को मिलता है। कई बार यह अपने अहम में किसी की बात को सुनना और समझना भी पसंद नहीं करते। इनके अंदर यह क्वालिटी होती है कि यह अपनी बात को सही साबित करने पर तुले रहते हैं जिससे सामने वाला इनको एरोगेंट समझता है।

अनुशासनहीन होना
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मेष राशि के अनुसाशनहीन होते हैं। या यह कहें कि अनुशासन की कमी होती है। इनकी जो ऊर्जा होती है वह कई देशों में फैली होती है लेकिन जीवन में सफलता पाने के लिए किसी एक दिशा में अपनी उर्जा को लगाना जरूरी होता है। और यह बात इनके समझ में नहीं आती है। हाला की मेष राशि के जातकों में जोश और उत्साह की कोई कमी नहीं होती लेकिन यह उतने ही कर्मठ होते हैं।

उलझना
मेष राशि के जातकों में खूबी और होती है बिना किसी बात की कई बार लोगों से भिड़ जाते हैं जिससे मनमुटाव टकराव होने लगती है इसके कारण रिश्तो में कमजोरी भी आ जाती है। बिना वजह उलझने से मानसिक तनाव भी इनको घेरे रहता है। हालांकि इनके अंदर योग्यता इतनी कूट-कूट कर भरी पड़ी है कि यह हर बात को अपने तरीके से संभाल भी लेते हैं।