Categories
ज्योतिष

कैसा है आपका सिग्नेचर, इसके जरिए जाने कौन कौन से टैलेंट्स छुपे हैं आपमें..

ज्योतिष

हर व्यक्ति अपने-अपने तरीके से सिग्नेचर या हस्ताक्षर करता है। सिग्नेचर भले ही आप अपनी उंगलियों से करते हों लेकिन कहीं ना कहीं इसका संबंध आपके दिमाग से होता है। हर सिग्नेचर व्यक्ति की पहचान और उसके व्यक्तित्व के बारे में बताता है। आइए जानते हैं कि आपका सिग्नेचर आपके बारे में क्या कहता है….

  • जो लोग हस्ताक्षर करते समय पहला अक्षर थोड़ा बड़ा और उसके बाद पूरा नाम लिखते हैं, वो अद्‍भुत प्रतिभा के धनी माने जाते हैं। वहीं जो लोग सिग्नेचर करने के बाद उसे रेखांकित करते हैं वो शक्तिशाली और मजबूत व्यक्तित्व वाले होते हैं।
  • जिन लोगों का हस्ताक्षर बहुत छोटा होता है वो स्वार्थी और दूसरों को नियंत्रित करने वाले माने जाते हैं। अगर हस्ताक्षर का आकार अक्षर की तुलना में बड़ा हो तो व्यक्ति में शासन करने की महत्वकांक्षा होती है।
  • जो लोग नीचे से ऊपर की ओर उठाकर सिग्नेचर करते हैं वो बहुत ज्यादा महत्वाकांक्षी होते हैं और हर कीमत पर अपना लक्ष्य पूरा करते हैं। जो लोग लहरनुमा हस्ताक्षर करते हैं वो अपने काम के लिए कोई भी गोपनीय कदम उठाने वाले माने जाते हैं।
  • हस्ताक्षर का पहला अक्षर बड़ा हो और बाकी के सारे अक्षर बराबर हों तो वह व्यक्ति बहुत स्वाभिमानी माना जाता है। वहीं हस्ताक्षर का पहला अक्षर बड़ा हो और अंतिम अक्षर एकदम छोटा हो तो माना जाता है कि ऐसा व्यक्ति किसी भी काम शुरूआत तो धूमधाम से करता है लेकिन जल्दी ही उसकी दिलचस्पी उस काम से खत्म हो जाती है। ऐसा व्यक्ति कल्पनाओं में ज्यादा रहता है।
  • जो लोग ऊपर से नीचे की तरफ गिराते हुए हस्ताक्षर करते हैं वो लोग स्वभाव से निराशावादी माने जाते हैं। वहीं सिग्नेचर के नीचे रेखा के साथ-साथ बिंदु लगाने वाले वचन पर पक्का रहने वाले माने जाते हैं।
  • एक सीधी लाइन में हस्ताक्षर करने वाला व्यक्ति तटस्थ, ईमानदार, उदार और विश्वसनीय माना जाता है। ऐसे लोग सीधे-साधे और निश्चल स्वभाव के होते हैं। जिन लोगों का हस्ताक्षर बहुत बड़ा होता है वो बहुत आत्मविश्वासी माने जाते हैं।