Categories
धर्म

कुंभ में इस प्रका’र पूजा करने से मिलता हैं दस महाय’ज्ञों का पुण्य……..

धार्मिक खबर

पूजा के शुभ फल :

  • सुखद एवं कुशल पारिवारिक जीवन प्राप्त होता है। 
  • कर्ज एवं धन की समस्या समाप्त होती है। 
  • शारीरिक कष्टों का निवारण होता है। 
  • गृह कलेश दूर होता है। 
  • धन आगमन के स्रोत बढ़ते है। 

शास्त्रों के अनुसार समस्त प्रकार के कष्टों का निवारण करने का एक मात्र उपाय है दीप दान। गंगा तट के किनारें दीप – दाप अत्यंत की प्रभावशाली और कल्याणकारी माना जाता है। दीप दान करने से संतान सुख प्राप्ति के योग बनते है। सभी नकारात्मक बाधाएं एवं बुरी नज़र का निवारण होता है। आसाध्य रोगों से मुक्ति मिलती है। साथ ही यदि इसके साथ ही ब्राह्मण भोज कराया जाएं तो सुख – सम्पन्नता का आशीर्वाद मिलता है। 

ब्राह्मण भोज हिंदू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण है। यह पूर्वजों की दिवंगत आत्माओं के लिए किया जाने वाला अनुष्ठान है। ब्राह्मण भोज हमारे पूर्वजों की आत्माओं की इच्छाओं को पूरा करने और उन्हें मोक्ष प्राप्त करने के लिए किया जाता है। ब्राह्मण भोज अनुष्ठान हमारे पूर्वजों के सभी पापों को शुद्ध करने में मदद करते हैं और उनकी आत्माओं को मुक्त करते हैं। इससे पूर्वजों का आशीर्वाद प्राप्त होता है जिससे हमें हमारे जीवन में सफलता मिलती है। 

हमारी सेवाएं :-
अनुष्ठान से पहले हमारे युगान्तरित पंडित जी द्वारा फ़ोन पर आपको संकल्प करवाया जाएगा। तथा पंडित जी द्वारा पूर्ण विधि -विधान से पूजन संपन्न किया जाएगा।