Categories
Other

सावधान– इस मैसेज को खोलते ही उड़ जायेगें खाते के सारे पैसे….SBI नें जारी किये निर्देश…. 😱

कोरोना वायरस की वजह से लोग इन दिनों घरों में कैद हैं। सरकार लोगों को लगातार SMS के जरिए कोरोना की जानकारी उपलब्ध करवा रही है। इस दौरान हैकर्स भी काफी सक्रिय हैं। जो कोरोना की आड़ में लोगों को हैकिंग सॉफ्टवेयर का लिंक भेजकर उनका डाटा चुरा रहे हैं। अब सीबीआई ने इंटरपोल की सूचना पर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को इस हैकिंग सॉफ्टवेयर को लेकर अलर्ट जारी किया है। साथ ही किसी भी अनजान मैसेज में भेजे गए लिंक को नहीं खोलने की सलाह दी है।

क्या है ये सॉफ्टवेयर?

सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन ने जिस सॉफ्टवेयर को लेकर अलर्ट जारी किया है, उसका नाम है सरबेरस। इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल हैकर लोगों की निजी जानकारी जैसे बैंक डिटेल और डाटा चुराने में करते हैं। इस सॉफ्टवेयर की खास बात ये है कि यूजर का डाटा चोरी हो जाता है और उसे पता तक नहीं चलता है। मौजूदा वक्त में कोरोना महामारी की जानकारी देने के बहाने हैकर इसके लिंक लोगों को भेज रहे हैं। जैसे ही लोग कोरोना के बारे में जानकारी लेने के लिए मैसेज में दिए लिंक को खोलते हैं, वैसे ही वो हैकर के जाल में फंस जाते हैं।

ये है हैकिंग का तरीका

सीबीआई के मुताबिक हैकर सबसे पहले कोरोना से जुड़ा एक मैसेज भेजेंगे। इस मैसेज में एक सॉफ्टवेयर का लिंक रहेगा। मोडस ओपेरंडी के तहत भेजे गए इस SMS पर क्लिक करते ही आपके फोन में ये सॉफ्टवेयर अपने आप इंस्टाल हो जाएगा। जिसके बाद ये सॉफ्टवेयर आपकी सारी निजी जानकारी को कॉपी कर उसे हैकर को ट्रांसफर कर देगा, जिसके बाद हैकर आपके अकाउंट डिटेल या पर्सनल जानकारी का गलत इस्तेमाल कर सकता है। सीबीआई ने अपने अलर्ट में किसी भी अंजान व्यक्ति और कंपनी द्वारा भेजे गए मैसेज पर कोई रिस्पांस नहीं करने की अपील की